अब नर्मदा से जुड़ी गंभीर, तीन तहसील के 62 गांवों को लाभ

0
535

उज्जैन |नर्मदा-शिप्रा लिंक के बाद अब नर्मदा को गंभीर से जोड़ा गया है। इससे जिले की तीन तहसीलों के 62 गांवों को लाभ होगा। दिसंबर 2018 तक प्रोजेक्ट पूरा करने का दावा किया जा रहा है। 1852 करोड़ रुपए की नर्मदा-मालवा-गंभीर लिंक सिंचाई परियोजना बनाने का उद्देश्य था-ज्यादा से ज्यादा गांवों को सिंचाई के लिए पानी मुहैया कराना। नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण (एनवीडीए) को यह प्रोजेक्ट मार्च 2018 में पूरा करना था लेकिन यह नहीं हो पाया। एनवीडीए ने फरवरी-2014 में नर्मदा को शिप्रा से लिंक करने के सालभर बाद फरवरी-2015 में नर्मदा से गंभीर को पाइप लाइन के जरिए जोड़ने के लिए हैदराबाद की नवयुग कंस्ट्रक्शन कंपनी से एग्रीमेंट किया था। इसमें तय हुआ था कि कंपनी 1852 करोड़ रुपए की लागत से तीन साल में प्रोजेक्ट पूरा करेगी। प्रोजेक्ट की पूर्णता अवधि फरवरी 2018 रखी थी। अब एनवीडीए ने इसेे दिसंबर 2018 तक बढ़ा दिया है। प्रोजेक्ट पूरा होने के बाद उज्जैन जिले की घट्टिया तहसील के 35, उज्जैन तहसील के 20, बड़नगर तहसील के 17 और खाचरौद तहसील के 7 गांवों को सिंचाई के लिए पानी मिलने लगेगा।

एएसपी को दिया ज्ञापन

उज्जैन | रूद्रसागर मार्ग पर विजय जोशी और उसकी प|ी संध्या के साथ 13 अगस्त को हुई लूट के मामले में रिपोर्ट दर्ज नहीं करने को लेकर महिला सुरक्षा संघ ने एएसपी नीरज पांडे को ज्ञापन सौपा। उन्हें बताया बदमाश विक्रम टीले के पास से उनकी बाइक और उसमें टंगी थैली ले गए जिसमें दो हजार रुपए थे।

तुलसी जयंती पर पौधे रोपे

उज्जैन | लोति प्रावि नीलगंगा में तुलसी जयंती पर पौधाराेपण किया गया। लोति शिक्षण समिति के कार्यपालन अधिकारी गिरीश भालेराव, प्रभारी प्राचार्य प्राची नाफडे सहित शिक्षकों व विद्यार्थियों ने पौधे छात्रावास परिसर में रोपे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here