केलो के साथ सभी बांध भरे, किसानों को सिंचाई के लिए मिलेगा पानी

0
588

जिले में पिछले 15 दिनों में हुई बारिश से केलो बांध सहित जिले के अन्य जलाशयों में भी पानी का भराव पर्याप्त हो गया है। लगभग दो महीने पहले सभी डेम में पानी बिल्कुल कम था। अफसरों का कहना है कि इस बार रबी की फसलों की सिंचाई के लिए पानी कम नहीं पड़ेगा। हालांकि केलो की नहरों का काम पूरा नहीं हुआ है, इससे केलो डेम का लाभ ज्यादातर किसानों को नहीं मिला है। जिले के तीन अन्य डेम में पानी नहरों में छोड़ने के स्तर तक भर गया है।

बारिश के सीजन शुरू होने के दो माह बाद भी जलाशय पूरी तरह से सूखे थे। जिले में सबसे बड़े भू-भाग को सिंचिंत करने वाला बांध केलो में भी 61 प्रतिशत पानी आ चुका है। इसी तरह अन्य बांध में भी किसानों को पानी देने के लिए पानी आ चुका है। 15 दिनों पहले तक केलो बांध में 229 मीटर पानी था, अब 231.30 मीटर हो चुका है। केलो बांध की क्षमता 233 मीटर की है। ऐसे में मात्र 1.70 मीटर ही पानी केलो बांध में भरना रह गया है। सामान्यतः सितंबर माह के बाद ही डेम को भरा जाता है। इसके पहले तक लगातार डेम से पानी निकाला जाता है, ताकि स्थिति बिगड़े ना। फिलहाल सप्ताह भर में जिले में हुई बारिश से केलो बांध के साथ ही खम्हार पाकुट, केडार, किंकारी, पुटका में भी पर्याप्त पानी भर चुका है।

जिले में अब तक 27.9 इंच औसत वर्षा हुई है। जिले में सबसे ज्यादा बारिश पुसौर में 44.6, रायगढ़ तहसील में 31.6, खरसिया में 22.6, सारंगढ़ में 26.3, बरमकेला में 25.1, घरघोड़ा में 26.1, तमनार में 19.7, लैलूंगा में 23.0 तथा धरमजयगढ़ तहसील में 32.2 इंच वर्षा हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here