तीनों केंद्रों पर होंगे भावांतर के पंजीयन किसानों को नहीं होगी परेशानी

0
487

भावांतर योजना में पंजीयन के लिए किसानों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। बुधवार को मंडी प्रबंधन ने दो बंद केंद्र भी शुरू कर दिए हैं। यहां किसान भावांतर योजना के तहत अपनी उपज का पंजीयन करा सकते हैं। अभी स्थिति यह थी कि कृषि उपज मंडी स्थित मार्केटिंग सोसायटी पर ही किसानों के पंजीयन किए जा रहे थे। शेष दो झांझाखेड़ी और रूपेटा केंद्र बंद थे। ऐसे में मुद्दे को भास्कर ने उठाते हुए बुधवार को खबर प्रकाशित की। इसके बाद प्रबंधन ने दोनों बंद केंद्र भी शुरू कर दिए। ऐसे में किसान यहां भी पंजीयन करा सकते हैं।

.. तो बढ़ेगी पंजीयन की संख्या

20 सितंबर को पंजीयन की आखिरी तारीख है। ऐसे में अब तक केवल 920 पंजीयन ही हुए थे। कारण सिर्फ एक केंद्र पर पंजीयन होना। ऐसे में अब दोनों केंद्र भी खुलने से पंजीयन की संख्या बढ़ेगी। साथ ही किसानों को कतार में खड़ा भी नहीं रहना पड़ेगा, जबकि गत वर्ष 2 हजार से अधिक किसानों के पंजीयन हुए थे। ऐसे में कम समय में किसानों के पंजीयन होंगे या नहीं इसे लेकर संशय बना हुआ है।

अब सर्वर और ठीक कराया जाएं

पंजीयन में देरी का एक कारण स्लो सर्वर है। ऐसे में प्रबंधन को सर्वर की स्पीड बढ़ाने के लिए उच्चाधिकारियों से चर्चा करना चाहिए, क्योंकि डाउन सर्वर के कारण देर तक किसान के पंजीयन नहीं होते। एक कारण यह भी है कि किसानों के पंजीयन कम हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here