धान बेचने पहुंचे किसानों से अवैध वसूली कर रहे चपरासी को प्रबंधन ने थमाया निलंबन नोटिस

0
62
सोशल मीडिया में चपरासी का खुलेआम उगाही करते वीडियो हुआ वायरल

राजनांदगांव / डोंगरगढ़. माई की नगरी से लगे ग्राम अछोली केंद्र में धान बेचने पहुंचे किसानों से चपरासी धनीराम मानिकपुरी द्वारा अवैध वसूली किए जाने का मामला उजागर हुआ है। साथ ही इसका वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है। धान खरीदी केंद्र प्रभारी ने आरोपी चपरासी को सेवा से बर्खास्त करने का नोटिस थमा दिया है। विकासखंड के अंतर्गत आने वाले ढारा सोसाइटी के उपकेंद्र अछोली स्थित धान खरीदी केंद्र के चपरासी धनीराम मानिकपुरी का किसानों से अवैध उगाही करते हुए वीडियो वायरल होती ही दिन भर किसानों से की जा रही अवैध उगाही की चर्चा रही।

चपरासी की करतूत का विडियो हुआ वायरल
बताया जाता है कि चपरासी द्वारा धान बेचने पहुंचे किसानों से अवैध वसूली की जा रही थी। इसी दौरान किसी ने उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया। अवैध उगाही का वीडियो वायरल होते ही 25 वर्षों से कार्यरत दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी को अछोली के धान खरीदी केंद्र प्रभारी मारुति कोचे द्वारा ब्रांच मैनेजर बीएम चंद्रवंशी के निर्देश पर सेवा से बर्खास्त करने तत्काल प्रभाव से धनीराम मानिकपुरी को नोटिस जारी कर दी गई है।

हमालों के खिलाफ भी हुई शिकायत
हमालों के खिलाफ भी शिकायत धान खरीदी केंद्र की ओर से कार्यरत हमालों द्वारा किसानों से धान पलटी करने के नाम प्रति बोरा 5 रूपए की दर से राशि की वसूली की शिकायतें लगातार मिल रही है। किसानों का कहना है कि हमालों को धान खरीदी केंद्र की ओर से पर्याप्त निर्धारित राशि दी जा रही है। ऐसे में किसानों से धान पलटी करने के नाम पर राशि लेना उचित नहीं है।

सेवा समिति की बैठक में निलंबन का लिया फैसला
सहकारी समिति ढारा मनोहर गेड़ाम ने कहा कि सेवा सहकारी समिति कि परिचालित बैठक मनोहर ग्राम के अध्यक्षता में आयोजित की गई। जिसमें चौकीदार धनीराम के विरुद्ध किसानों से पैसे की मांग करने का वीडियो प्राप्त हुआ। इस आधार पर धनीराम मानिकपुरी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here