परमंडल में किसानों ने नहीं होने दिया डैम का सर्वे, बेरंग लौटी टीम

0
564

ग्राम परमंडल में किसानों की मांग पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने डैम बनाने की घोषणा की थी। साध्यता स्वीकृत होने के बाद सर्वे किया जा रहा है। शनिवार को सर्वे करने गई टीम को डूब क्षेत्र में आने वाले किसानों के विरोध का सामना करना पड़ा। इस कारण टीम को बैरंग लौटना पड़ा। डैम निर्माण से 425 हेक्टेयर में सिंचाई होना है।

प्रभावित किसान लगातार विरोध कर रहे हैं। इसके पहले 13 जून को भी टीम सर्वे करने पहुंची थी लेकिन किसानों ने सर्वे नहीं होने दिया था। अब जल संसाधन उपसंभाग के एसडीओ सीएल मरकाम, उपयंत्री मनीष नागर, एसएल साहू, सर्वे करने वाली कंपनी विजयमाणी भोपाल का तकनीकी दल सर्वे करने पहुंचा था। टीम के पहुंचते ही किसान परिवार सहित मौके पर पहुंच गए और विरोध शुरू कर दिया। किसानों ने कहा वर्तमान में खेतों में फसल लगी हुई है। फसल कटने के बाद ही सर्वे किया जाना चाहिए। इसके साथ किसानों ने डूब में जा रही जमीन का उचित मुआवजा भी देने की मांग की। अधिकारियों ने किसानों को बताया अभी सर्वे हो रहा है।

इसलिए कर रहे विरोध

भूमि अधिग्रहण से प्रभावित होने वाले किसान डैम का विरोध कर रहे हैं। प्रभावित किसानों का कहना है उनकी उपजाऊ और सिंचित जमीन का अधिग्रहण किया जा रहा है। सिंचित जमीन से परिवार का पालन पोषण करते हैं। जमीन के एवज में प्रति एकड़ 20 लाख रुपए का मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाना चाहिए। इसके बाद ही वह अपनी जमीन पर डैम का निर्माण होने देंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here