फसल बचाने नहर की कर रहे मरम्मत

0
607

विकासखंड कुनकुरी के नारायणपुर सहित 8 गांव के किसानों को बेन गांव में बने बांध से सिचाई का लाभ मिल रहा था। इसकी देख रेख नहीं होने से किसानों को सिंचाई के लिए पानी की समस्या के कारण फसल लगाने में दिक्कत हो रही है। यह नहर लगभग 1975 में बनी थी। नहर बनने के बाद सैकड़ों किसानों को दो फसल लगाने का लाभ मिलने लगा था। नहर बनने के बाद जल प्रबंधन समिति गांव से बनती थी। वह नहर की देख रेख करने के साथ जल प्रबंधन करती थी। – शेष पेज 14

समिति भंग होने के बाद से नहर में बनी जगह जगह की पुलिया बंद हो गई है। नहरों में बड़े बड़े पौधों व घास के भारी मात्रा में हो जाने से पानी का बहाव भी रूक जा रहा है, जिससे किसानों की धान की फसल को पर्याप्त पानी नहीं मिल पा रहा है।

विभाग की अनदेखी से किसान परेशान

क्षेत्र के किसानों ने बताया कि जल संसाधन विभाग को कई बार नहर की साफ सफाई करने की आवश्यकता से अवगत कराया जा चुका है। लेकिन विभाग की लापरवाही एवं उदासीनता के कारण आज सैकड़ों किसान अपनी फसल को लेकर चिंतित हैं। पूर्व में नहर के रख रखाव के लिए विभाग के आदेश पर समिति गठित होती थी। इसकी देख रेख समिति के लोगों द्वारा होती थी, पर पिछले कुछ सालों से समिति भंग रहने के कारण नहर की स्थिति दिनो दिन खराब होती गई है। इस स्थिति से क्षेत्र के किसानों को परेशानी हो रही है। विभाग के समिति गठित करने की आदेश नहीं मिलने पर समिति भी गठित नहीं हो पाई, जिससे क्षेत्र के किसानों के हित के लिए बनी नहर की स्थिति काफी खराब हो गई है। क्षेत्र के लोगों ने गर्मी में ही विभाग को नहरों की साफ सफाई एवं नहरों में बनी छोटे छोटे पुलिया के जाम पड़े होने की जानकारी दी गई थी पर किसानों के हित से जुडे इस विषय पर विभाग द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया गया और आज विभाग की उदासीनता का दंश किसान झेल रहे हैं।

बेपरवाह विभाग

जल प्रबंधन समिति भंग रहने से किसानों को पानी की हो रही है समस्या इसलिए

वर्षों से जल प्रबंधन समिति का नहीं हो रहा है गठन

श्रमदान कर नहर सुधार रहे किसान

क्षेत्र में बारिश हो रही है फिर भी नहरों से पानी नहीं मिलने से लोग अब श्रमदान कर नहर की सफाई करने में जुटे हैं, ताकि किसान साल भर की कमाई को बचा सके। जनसेवा अभेद आश्रम के चितरंजन प्रमोद सिंह, शिक्षक राजेश्वर बन्दे, रामकेश्वर बन्दे एवं पूर्व अध्यक्ष जयश्री राम के नेतृत्व में नारायणपुर, पोखराटोली व चिटकवाइन के किसानों ने श्रमदानकर नहर की सफाई की।

विभाग हमारी मांगों को अनदेखा कर रहा

हमारे क्षेत्र में सैकड़ों किसानों के खेती नहर पर निर्भर था। समिति थी तो मिलकर समय समय पर नहर एवं नहरों में बने पुलिया की साफ सफाई की जाती थी। जबसे समिति भंग हुई है, नहरों में जगह-जगह टूट फुट हो गई है। विभाग किसानों की मांगो को निरंतर अनदेखा कर रहा है यह अच्छी बात नहीं है। जयश्री राम, पूर्व नहर समिति अध्यक्ष, नारायणपुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here