फिर किसान आंदोलन की तैयारी…

0
578

अन्नदाता अधिकार यात्रा लेकर शुक्रवार को राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ के शिव कुमार शर्मा (कक्का जी) शहर पहुंचे। उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए केंद्र और प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान पर हमला करते हुए कहा मुख्यमंत्री ने प्रदेश को भ्रष्टाचार और कालाबाजारी का हब बना डाला। यहां किसानों के उपयोग में आने वाली यूरिया, कीटनाशक सहित घी-तेल सब नकली बन रहा है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना भी किसानों के फायदे के लिए नहीं, बल्कि कंपनी को लाभ पहुंचाने के लिए बनाई गई। 27 हजार करोड़ रुपए की प्रीमियम लेने के बाद अब तक महज 7 हजार करोड़ रुपए ही किसानों को मिले।

कक्का जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी किसान विरोधी बताते हुए कहा सरकार उद्योगपतियों के 17 लाख 12 हजार करोड़ रुपए का टैक्स माफ कर सकती है, किसानों को कर्ज देने में उनकी बैंक दिवालिया हो जाती है। खेती पर जीएसटी लगने के बाद किसानों की आत्महत्या के मामले में 45 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

प्रदेश और केंद्र सरकार की इन्हीं किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ 15 अगस्त से यात्रा शुरू की है। इसके माध्यम से केंद्र सरकार के सामने 4 और प्रदेश सरकार से संबंधित 28 मांगों के लिए आंदोलन किया जाएगा। समय रहते उक्त मांगें नहीं मानी गईं तो 28 अक्टूबर को भोपाल में आरपार की लड़ाई लड़ी जाएगी। इसमें 20 लाख से ज्यादा किसान भोपाल पहुंचेंगे।

सरकारी की नीतियों पर पत्रकारों से चर्चा करते कक्का जी।

संघ और भाजपा कर रही नोटा का प्रचार

अन्नदाता अधिकार यात्रा लेकर शाजापुर आए कक्का जी ने एसटी-एससी और स्वर्ण समाज के बीच विरोध को लेकर कहा कि किसान की कोई जात नहीं होती। यह खेल भी भाजपा और संघ का रचा हुआ है। इसीलिए यह संगठन नोटा का प्रचार-प्रसार कर रहा है। ताकि विरोध करने वाले अपने वोट का उपयोग उनके खिलाफ नहीं कर पाए।

भावांतर मंडी एक्ट का खुला उल्लंघन

फसल बीमा और भावांतर योजना के नाम पर सरकारें अपनी पीठ जरूर थपथपा रही हैं, लेकिन इन दोनों योजना का लाभ कंपनी और व्यापारियों को हुआ, किसानों को नहीं। कक्का जी ने भावांतर योजना को मंडी एक्ट का खुला उल्लंघन बताया। इस एक्ट की धारा के तहत समर्थन मूल्य से नीचे किसानों की उपज नहीं खरीदी जाएगी। ऐसा होने पर मंडी प्रशासन पर आपराधिक प्रकरण दर्ज होगा। हल्की क्वालिटी बताकर कम दाम में मंडियों में किसानों की उपज खरीदी गई। लेकिन इस एक्ट के तहत कोई कार्रवाई नहीं हुई।

जैन आयोग की रिपोर्ट सरकार को बचाने के लिए

किसान आंदोलन के सवाल पर कक्का जी ने मामले की जांच रिपोर्ट तैयार कर रहे जैन आयोग पर ही सवाल खड़े कर दिए। उन्होंने साफ कहा कि आयोग रिपोर्ट सरकार को बचाने के लिए है। जबकि 6 में से दो मृतक किसान घनश्याम धाकड़ और 17 वर्षीय पाटीदार युवक को गोली लगने की जांच आरोपी अधिकारी ही कर रहे हैं।

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान पर बोले डेढ़ लाइन

प्रदेश में 15 साल से चल रही भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को लेकर कक्का जी ने डेढ़ लाइन का सारांश बताया। उनके अनुसार झूठी, कमजोर और भ्रष्टाचारी यानी शिवराजसिंह चौहान की सरकार। इस अवसर पर उनके साथ महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष देवनारायण दुबे भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here