भारत का किसान समस्याओं का नहींं षड्यंत्र का हुआ शिकार : सुरेश गुर्जर

0
494

टिमरनी। भाकिसं के अनिश्चितकालीन धरने में पहले दिन बड़ी संख्या में शामिल हुए किसान।

संगठन की ये हैं प्रमुख मांगें

खरीफ फसल 2017 के बीमा राशि में अनियमितताएं दूर कर अधिक से अधिक बीमा राशि उपलब्ध कराई जाए।

किसान को पांच हजार रुपए एकड़ से कम राशि नहीं मिले। वर्तमान में हो रही फसल नुकसानी का सर्वे कराया जाए।

फसल कटाई प्रयोग से दो दिन पहले गांव के किसानों को सूचना दी जाए। फसल प्रयोग के पंचनामे की प्रति ग्राम पंचायत को उपलब्ध कराई जाए।

आगामी खरीफ फसल सोयाबीन, उड़द, मक्का एवं अन्य फसलों की खरीदी की क्या व्यवस्था है। समय पूर्व कार्ययोजना सार्वजनिक की जाए।

सहकारी बैंक द्वारा वर्ष 2004 के पहले किसानों को खेतों और गांव में मकान बनाने के लिए लिए गए ऋण काे कृषि ऋण मानकर वसूली की जाए।

तहसील के अंतर्गत चुरनी, गाडरापुर, मेडियाखेड़ी में विभाग द्वारा प्रस्तावित विद्युत सब स्टेशन का निर्माण शीघ्र कराया जाए।

खरीदी गई मूंग फसल की प्रोत्साहन राशि व चने की बोनस राशि शीघ्र दी जाए।

पोखरनी व बाजनिया के किसानों को कूट रचना कर खरीफ फसल 2012 की बीमा राशि से वंचित किया था। उन्हें बीमा राशि उपलब्ध कराई जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here