समर्थन मूल्य पर धान बेचने 300 से भी अधिक किसानों ने पंजीयन के लिए दिया आवेदन

0
381

केंद्र शासन की ओर से समर्थन मूल्य बढ़ाने के बाद अब राज्य शासन की ओर से बोनस के साथ धान खरीदी की तैयारी चल रही है। इसका असर जिले में दिख रहा है। दो सप्ताह में ही 300 से भी अधिक नए किसानों ने समर्थन मूल्य पर धान बेचने पंजीयन करवाने के लिए सभी 9 तहसीलदारों के पास आवेदन किया है। जिसकी जांच की जा रही है।

जांच के बाद इनका पंजीयन कर दिया जाएगा। अभी अक्टूबर तक सहकारी समिति व तहसील कार्यालय में पहुंचकर किसानों की ओर से पंजीयन कराने का दौर चलता रहेगा। ऐसे में संख्या और बढ़ेगी। पिछले साल करीब 6 हजार नए किसानों ने पंजीयन कराया था। 16 अगस्त से पंजीयन की शुरुआत हुई है। हालांकि पहले चार पांच दिनों तक सॉफ्टवेयर नहीं खुला। पंजीयन करवाने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर है।

31 है पंजीयन की अंतिम तिथि, शुरुआती दिनों में साफ्टवेयर नहीं खुलने से रजिस्ट्रेशन हुआ धीमा

12 साल में धान का समर्थन मूल्य 1100 रु. बढ़ा

जिले के करीब 80 हजार पंजीकृत किसानों को जुलाई में ही अच्छी खबर मिल गई है कि केंद्र सरकार ने धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 200 रुपए बढ़ाकर 1,750 रुपए प्रति क्विंटल किया है। इसलिए नए किसान जो अब तक दूसरों के भरोसे खेती करते थे, वे खुद पंजीयन करा रहे हैं ताकि फायदा मिल सके। वैसे धान के समर्थन मूल्य में पांच साल पहले 170 रुपए की बढ़ोत्तरी हुई थी। हर साल न्यूनतम 40 से लेकर 100 रुपए के बीच समर्थन मूल्य बढ़ता आ रहा था लेकिन इस बार सबसे ज्यादा 200 रुपए की बढ़ोतरी हुई है।

2006 में 650 रुपए था समर्थन मूल्य

वर्ष 2006-07 में धान का समर्थन मूल्य 650 रुपए था। इसके पहले 610 रुपए था। इस लिहाज से 12 साल में धान के समर्थन मूल्य में 1100 रुपए की बढ़ोत्तरी हुई है। पिछले साल मोटे किस्म के धान की कीमत 1550 रुपए और पतले धान की कीमत 1580 रुपए तय की गई थी।

15 दिन पहले शुरू होगी धान खरीदी

छत्तीसगढ़ में इस साल धान की सरकारी खरीदी 1 नवंबर से शुरू हो जाएगी और 31 जनवरी तक खरीदी होगी। पिछले साल धान की खरीदी 15 नवंबर से शुरू की गई थी। बता दें कि इस साल 7 नवंबर को दीप पर्व दीपावली है। ऐसे में किसानों के लिए अच्छी खबर है।

समर्थन मूल्य के साथ बोनस भी मिलेगा:

चुनावी साल में किसानों को साधने के लिए सरकार ने धान खरीदी 15 दिन पहले 1 नवंबर से शुरू करने का निर्णय पिछली कैबिनेट बैठक में लिया था। वहीं अब समर्थन मूल्य के साथ ही बोनस की राशि एक साथ देने की घोषणा की गई है। धान खरीदी केंद्रों से किसानों के खाते में ऑनलाइन भुगतान किया जाएगा। इस साल केंद्र सरकार ने धान का समर्थन मूल्य बढ़ाया है। अब ए ग्रेड धान की कीमत 1770 रुपये और कॉमन धान की कीमत 1750 रुपये हो गई है। इसमें तीन सौ रुपये बोनस जोड़ने के बाद किसानों को प्रति क्विंटल 2070 व 2050 रुपये मिलेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here