आवेदन पर दे रहे तारीख, 16 दिन बचे अभी तक मात्र 920 किसान के पंजीयन

0
128

किसानों को सोयाबीन फसल का उचित मूल्य उपलब्ध कराने के लिए शासन द्वारा भावांतर योजना में किसानों का पंजीयन किया जा रहा है। दो दिन पहले तक कृषि उपज मंडी परिसर स्थित मार्केटिंग सोसायटी पर किसानों की भीड़ लगी हुई थी। वजह सिर्फ एक ही केंद्र पर पंजीयन होना है। इसे लेकर मार्केटिंग सोसायटी ने किसानों को लंबी लाइन से राहत दिलाने के लिए उनके आवेदन पर तारीख लिखी जा रही है। यानी उसी तारीख पर किसानों का पंजीयन होगा, इससे सोसायटी पर भीड़ नहीं होगी और किसानों का पंजीयन जल्दी हो सकेगा। लेकिन पंजीयन की अंतिम तिथि 20 सितंबर ही है और अभी तक मात्र 920 किसानों का ही पंजीयन हुआ है। जबकि गत वर्ष 2 हजार से अधिक किसानों के पंजीयन हुए थे। ऐसे में कम समय में किसानों के पंजीयन होंगे या नहीं इसे लेकर संशय बना हुआ है।

तीन नए केंद्र अब तक नहीं शुरू आदेश के बाद भी पंजीयन नहीं

किसानों की भीड़ को देखते हुए शासन द्वारा कृषि उपज मंडी, झांझाखेड़ी व रूपेटा सोसायटी में भी पंजीयन करने के निर्देश दिए हैं। लेकिन आदेश के बाद भी मंगलवार को तीनों स्थानों पर पंजीयन शुरू नहीं हो पाए। इस वजह से किसानों को अपना नंबर आने का इंतजार करना पड़ रहा है। तीनों केंद्रों पर पंजीयन शुरू हो जाते हैं तो किसानों को राहत मिलेगी और उनके पंजीयन जल्दी हो पाएंगे।

स्लो सर्वर भी बन रहा देरी का कारण, एक को लग रहे 30 मिनट

पंजीयन में देरी का एक कारण स्लो सर्वर भी बन रहा है। एक किसान के पंजीयन में करीब 30 मिनट लग रहे हैं। एक केंद्र होने से ही किसानों की लंबी लाइन लग रही है। अगर तीनों केंद्र शुरू हो जाएंगे तो किसानों को पंजीयन के लिए कम इंतजार करना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here