18 दिन में सिर्फ 4.2 मिमी बारिश, फसलों की ग्रोथ रुकी, सोयाबीन को चट कर रही है इल्ली

0
397
60हजार हेक्टेयर में सोयाबीन की फसल

32हजार हेक्टेयर में कपास की फसल

33हजार हेक्टेयर में अन्य फसलें

सोयाबीन के पत्तों को इल्लियां चट कर रही हैं।

फसल बचाने के लिए ये उपाय करें
आंचलिक कृषि अनुसंधान केंद्र ने भी बारिश की खेंच पर चिंता व्यक्त है। उन्होंने फसल बचाने के लिए किसानों के लिए सलाह जारी की है। फसलों में एक प्रतिशत नत्रजन के घोल का छिड़काव करें।

सोयाबीन, उड़द की फसलें पत्ती खाने वाली इल्लियों व रसचूसक कीट की रोकथाम के लिए पूर्व मिश्रित कीटनाशक बीटासायफ्लुथ्रिन व इमिडाक्लोप्रिड 350 मिमी प्रति हैक्टेयर या थायमिथाक्सिम व लेम्बडासायहेलोथ्रिन 125 मिली प्रति हैक्टेयर की दर से छिड़काव करें।
खेतों में डोरा चलाएं। जिससे खरपतवार नियंत्रण के साथ खेतों में नमी संरक्षण हो सके।
फसलों की कतारों के बीच खेत से निकले खरपतवार को बिछाएं (मल्चिंग करें)।

गत वर्ष से 7.4 इंच बारिश कम
भू अभिलेख से मिले आंकड़ों के अनुसार अब तक जिले में औसत 383.3 मिमी (15.3 बारिश) ही बारिश हुई है जबकि गत वर्ष इस अवधि तक 569.1 (22.7 इंच) बारिश हो चुकी थी। यानि इस बार गत वर्ष के मुकाबले 7.4 इंच बारिश कम हुई है।

अभी बारिश की नहीं उम्मीद, बादल छाएंगे
अच्छी बारिश की उम्मीद नहीं है। मंगलवार तक कहीं कहीं बूंदाबांदी हो सकती है। बारिश का सिस्टम बनने के बाद ही अच्छी बारिश होगी। अभी अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना रहेगा। आसमान पर हल्के बादल छाए रहेंगे। -डॉ. आरके त्रिपाठी, मौसम वैज्ञानिक, केवीके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here