किसानों के लिए बैंक को पारदर्शिता की जरूरत

0
108

 

प्रदेश कृषि के क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति कर रहा है। इस क्षेत्र में प्रगति दर लगातार 20 प्रतिशत से अधिक है। जिसमें सहकारिता का प्रमुख योगदान है। किसानों को 0 प्रतिशत पर फसल ऋण उपलब्ध होना, कृषि विकास दर में वृद्धि का महत्वपूर्ण कारण है। जिला सहकारी बैंक की वित्तीय स्थिति काफी सुदृढ़ है। बैंक को किसानों के लिए और अधिक पारदर्शिता के साथ शासन की योजनाओं को संचालित किया जाना चाहिए। इसके लिए बैंक को नई तकनीकी का अधिक से अधिक इस्तेमाल करने के लिए समयबद्ध कार्यक्रम बनाना चाहिए।

यह बात कलेक्टर श्रीकांत बनोठ ने शनिवार जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित शाजापुर की 100वीं वार्षिक साधारण सभा के दौरान कही। बैंक मुख्यालय के परिसर में आयोजित कार्यक्रम में बैंक अध्यक्ष शिवनारायण पाटीदार ने बैंक के कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि किसानों के हित में बैंक लगातार कार्य कर रही है। शासन की सभी महत्वाकांक्षी योजनाओं का क्रियान्वयन करने में बैंक पदाधिकारी, कर्मचारीगण लगातार कार्य कर रहे है। बैंक की अधोसंरचना एवं तकनीकी क्षमता बढाने का कार्य भी चल रहा है।

किसानों को रूपे कार्ड वितरित किए गए हैं, जिनसे किसानों द्वारा लेन-देन प्रारंभ किया गया है। बैंक के सीईओ डी.आर. सरोठिया ने वित्तीय वर्ष 2017-18 का वार्षिक प्रतिवेदन एवं साधारण सभा के विषय सदस्यों के समक्ष अनुमोदन के लिए प्रस्तुत किए, जिस पर सभी अंशधारी सदस्यों ने स्वीकृति दी। बैंक संचालक व भाजपा जिलाध्यक्ष नरेन्द्रसिंह बैस ने भी संबोधित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here