किसानों का पंजीयन 16 अगस्त से होगा शुरू

0
269

 

रायगढ़

खरीफ सीजन में धान की खरीदी के लिए किसानों का पंजीयन 16 अगस्त से शुरू होगा। अंतिम तारीख 31 अक्टूबर तय की गई है। खाद्य विभाग व सहकारी समिति के अफसरों ने मंगलवार को कलेक्टोरेट के सृजन सभाकक्ष में जिले के सभी समिति प्रबंधकों को धान खरीदी के लिए पंजीयन की प्रक्रिया की जानकारी दी। एएफओ संतोष दुबे ने बताया कि इस बार धान खरीदी के लिए सहकारी समितियों के प्रबंधकों व अध्यक्षों की जवाबदेही तय की जाएगी।

खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग के सचिव ऋचा शर्मा द्वारा बीते 23 जुलाई को प्रदेश के समस्त कलेक्टर, संभागायुक्त, प्रबंध संचालक को किसानों के पंजीयन के संबंध में कई निर्देश दिए थे। उन्होंने समिति प्रबंधकों व अफसरों की बैठक लेकर पंजीयन की जानकारी देने भी कहा था। अफसरों ने बताया कि राजस्व रिकॉर्ड और पटवारी से सत्यापित रकबे में भिन्नता पाई जाती है तो पटवारी और पर्यवेक्षक जिम्मेदार होंगे। रकबे के सत्यापन कार्य की उच्च स्तर के अधिकारी भी निगरानी करेंगे। धान खरीदी के लिए प्रत्येक समिति में एक नोडल अफसर की नियुक्ति होगी। धान की खरीदी कृषि भूमि सीलिंग कानून के अनुसार होगी। किसानों की सहमति से ही उनके आधार नंबर लिए जाएंगे।

तय मात्रा से अधिक धान बेचने पर किसान का राशन कार्ड भी निरस्त कर दिया जाएगा। यह नियम पिछले साल से भी लागू है। सीमांत किसानों को 37.5 और लघु सीमांत किसानों को 75 क्विंटल तक धान बेचने की पात्रता है।

मंगलवार को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में समिति प्रबंधकों को पंजीयन की जानकारी दी गई

पटवारी करेंगे किसान का डाटा चेक

पिछले साल के किसान पंजीयन में हुई गलती को दूर करा सकते हैं। पिछले साल के किसानों का डाटा पटवारियों को दिया जाएगा। राजस्व रिकॉर्ड के आधार पर पटवारी उसे चेक करेंगे। नए किसानों का पंजीयन तहसीलदार करेंगे। इसके लिए किसानों को अपने क्षेत्र की समिति में आवेदन करना होगा। धान के अलावा किसी भी अन्य फसल के लिए पंजीयन नहीं किया जाएगा।

जिनके पास नहीं उनका आधार बनाएगा प्रशासन

यदि किसी किसान के पास आधार नंबर नहीं है तो कलेक्टर उनका तुरंत आधार बनवाने की व्यवस्था करेंगी। आधार नंबर के आधार पर हर किसान का पंजीयन होगा ताकि वह धान बेचने से वंचित न हो, वहीं जिन किसानों का पंजीयन के बाद मौत हो जाएगी तो परिवार के द्वारा नामांकित व्यक्ति के खिलाफ धान बेचने का अनुमति तहसीलदार देंगे।

पिछले साल का पंजीयन इस साल भी मान्य होगा

सरकार ने तय किया है कि पिछले खरीफ सीजन में जिन किसानों ने पंजीयन कराया था। उनका पंजीयन इस बार भी मान्य होगा। खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग ने खरीदी पूर्व पंजीयन के संबंध में आदेश जारी कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here