तितली तूफान के असर से बारिश की उम्मीद किसान बोले- फसल को मिलेगा जीवनदान

0
186

नवापारा राजिम Oct 12, 2018

तितली तूफान के असर से गुरुवार को अंचल में सुबह से बादल छाए रहे। इससे लेट वैरायटी धान की फसल लेने वाले किसानों में एक बार फिर बारिश की उम्मीद जगी। किसान नोहर सिंह ध्रुव, उत्तम निर्मलकर, गेंद राम साहू आदि ने कहा बारिश होने से हमारी सूखती हुई फसल को जीवनदान मिलेगा। क्षेत्र में बारिश के अलावा सिंचाई का अन्य कोई साधन नहीं है।

पखवाड़ेभर से तेज धूप के कारण लेट वैरायटी किस्म के फसल सूखने लगे हैं, जिसे बचाने लोग कई उपाय कर रहे हैं। आंध्र और ओडिशा बॉर्डर में पहुंचे तितली तूफान के असर के कारण गुरुवार को हवाएं तेज चलती रही। शाम 6 बजे कुछ मिनटों तक रिमझिम बारिश हुई।

फसलों में कीट प्रकोप बढ़ने की संभावना : किसान मालिक राम वर्मा, रामेश्वर वर्मा ने कहा बादल छाए रहने से बारिश की उम्मीद बनी हुई है। करही के मित्रभानु वर्मा, चंडी के टीकाराम वर्मा तथा सरफोंगा के संतोष ने कहा बदली छाने से फसलों में कीट प्रकोप बढ़ने की संभावना है।

सुहेला. आसमान में छाई बादलों से बारिश की उम्मीदें बंधी।

मौसम बदलने से सर्दी-खांसी व बुखार के मरीज बढ़े

नवापारा-राजिम। समुद्री चक्रवाती तूफान तितली से मौसम में बदलाव आया है। इसके चलते बुजुर्ग एवं बच्चे सर्दी, खांसी, बुखार से पीड़ित हो रहे हैं। नगर के सभी अस्पताल और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। वहीं दूसरी ओर बादल छाए रहने से किसान चिंतित हैं। गुरुवार को दोपहर में हल्की बूंदा-बांदी हुई। मौसम में आए बदलाव से फसलों में तेजी से कीट प्रकोप बढ़ने की संभावना है। इससे उत्पादन और धान की गुणवत्ता प्रभावित होगी। कोपरा, कौंदकेरा, भेंडरी, लखना, परसदा, भसेरा आदि गांव के किसान मौसम बदलने से खेत में खड़ी फसल पर निगाह रख रहे हैं।

बूंदाबांदी हुई तो किसानों ने मजदूरों की बजाय हार्वेस्टर से कटवाई फसल

पाण्डुका| ओडिशा में उठी तितली तूफान से मौसम में बदलाव आया है। गुरुवार को क्षेत्र में हुई हल्की बूंदा-बांदी ने किसानों की चिंता बढ़ा दी। हरहुना प्रजाति का धान पक कर तैयार हो गया है। पाण्डुका क्षेत्र के गांवों में फसल कटाई भी शुरू हो गई है। किसान मौसम खुला देखकर मजदूरों से कटाई करवा रहे थे, लेकिन गुरुवार को दिनभर मौसम खराब होने की वजह से पके हुए धान की फसल को हार्वेस्टर से कटाई कर घर में सहजने में जुट गए हैं, क्योंकि पिछले साल इसी नवरात्र में भारी बारिश से नुकसान हुआ था।

देवभोग में तितली तूफान से रुक-रुककर बारिश

देवभोग| बंगाल की खाड़ी से उठा खतरनाक साइक्लोन ओडिशा पहुंच गया है। तितली तूफान का असर दिनभर दिखाई दिया। ठंडी हवा के साथ बूंदाबांदी होती रही। कई इलाके में हुई तेज बारिश से दिनचर्या प्रभावित रही। देवभोग का इलाका ओडिशा के कालाहांडी जिले से लगा हुआ है। तूफान गोपालपुर जिले में सुबह से प्रभावी रहा, जिसका पूरा असर देवभोग में देखने को मिला। मंगलवार देर रात से यहां बारिश शुरू हो गई थी। बुधवार देर रात तक रुक-रुक कर बारिश होते रही।

आधे घंटे तक हुई बारिश

राजिम| बंगाल की खाड़ी से उठा तितली तूफान का असर राजिम अंचल में गुरुवार को दिनभर दिखाई दिया। यहां सुबह से ही बदली छाई थी और शाम 4 बजे आधा घंटा तेज बारिश हुई। मौसम के अचानक करवट बदलने से किसान चिंतित हैं। किसानों का कहना है कि धान की बाली निकल रही है। बारिश के कारण फसलों पर कीट प्रकोप बढ़ेगा। इससे फसल को बचाने ज्यादा कीटनाशक का छिड़काव करने से खर्चा बढ़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here