चौहान ने गलत आंकड़े पेश कर धोखे से हासिल किए कृषि कर्मण अवार्ड : कांग्रेस

0
213
Bhopal: Madhya Pradesh Chief Minister Shivraj Singh Chouhan speaking at the Confederation of Real Estate Developers' Associations of India's MP Conference-2017, in Bhopal on Friday. PTI Photo(PTI3_24_2017_000102B)

Nov 3, 2018

भोपाल, दो नवंबर (भाषा) कांग्रेस ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि मध्य प्रदेश में भाजपा के शासनकाल में केन्द्र सरकार द्वारा दिया जाने वाला कृषि कर्मण अवार्ड हासिल करने के लिए कृषि उत्पादन के गलत आंकड़े पेश कर प्रदेश की जनता, किसान और केन्द्र सरकार को धोखा दिया है। कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आज यहां पत्रकार वार्ता में भाजपा के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘मध्य प्रदेश सरकार को लगातार पांच कृषि कर्मण अवार्ड हासिल हुए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी पीठ थपथपाते हुए सरकारी धन से करोड़ों रुपये के विज्ञापन दे डाले। खुद को मंहिमामंडित करने के लिए स्वयं को ही किसान मित्र, और किसान पुत्र की उपाधियां दे डालीं। लेकिन सरकार के तथ्यों और दस्तावेजों ने मुख्यमंत्री शिवराज का छल-कपट और धोखा उजागर कर दिया है। आजाद भारत में शायद पहली बार स्वयं की प्रसिद्धि की लालसा में देश की सरकार को भी धोखे में रख, झूठी जानकारियां भेजकर, षड्यंत्रपूर्ण तरीके से कृषि कर्मण अवार्ड हथिया लिए।’’ उन्होंने बताया कि वित्त वर्ष 2012-13 में केन्द्र सरकार को दिए गए आंकड़ों में केन्द्र सरकार को बताया गया कि मध्य प्रदेश में 287 लाख टन अधिकतम कृषि उत्पादन हुआ। लेकिन अगले वित्त वर्ष 2013-14 में 2012-13 के कृषि उत्पादन का अधिकतम आंकड़ा गलत तौर पर कम करके 234 लाख टन बताकर वर्ष 13-14 में वृद्धि प्रतिशत को धोखे से बढ़ा हुआ दर्शाया गया। इस प्रकार आगे के वर्षों में भी गलत आंकड़े केन्द्र सरकार को पेश कर कृषि कर्मण अवार्ड हासिल करने के लिए धोखेबाजी की गई। सुरजेवाला ने कहा कि कृषि कर्मण अवार्ड केन्द्र में यूपीए सरकार के कार्यकाल में प्रदेशों में कृषि उत्पादन में वृद्धि को प्रोत्साहित करने के लिये शुरु किया गया था। कांग्रेस नेता ने हालांकि इन सवालों का कोई सीधा उत्तर नहीं दिया कि केन्द्र में यूपीए सरकार के दौरान इसे क्यों नहीं पकड़ा जा सका। वहीं, प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष विजेश लुनावत ने कहा कि कांग्रेस इस मामले में जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस केवल मीडिया में रहकर लड़ाई में रहना चाहती है, जबकि भाजपा ने किसानों के लिए जमीनी स्तर पर अनेक कल्याण कार्य किये हैं।’’ प्रदेश में भाजपा की चौथी दफा सरकार बनने का दावा करते हुए लुनावत ने कहा कि कांग्रेस का आधार समाप्त हो गया है, इसलिए वह लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रही है। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर पूछे गये सवाल पर कांग्रेस के मीडिया प्रमुख ने भाजपा और आरएसएस को कैकेयी और मंथरा बताते हुए कहा कि इन्होंने भगवान राम को तीन दशक से वनवास भेजा हुआ है और जब-जब चुनाव आते हैं, तब इन्हें भगवान राम याद आते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here