धान खरीदी के लिए अभी भी किसानों का इंतजार, 11 दिन बाद 5 केंद्रों में हुई बोहनी

0
116

जांजगीर-चांपा  Nov 13, 2018

समर्थन मूल्य पर सहकारी समितियों में एक नवंबर से धान खरीदी शुरू तो हो गई लेकिन जिले में 11 दिनों बाद भी खरीदी फीकी पड़ी हुई है। खरीदी के लिए 12वें दिन सोमवार को 5 केंद्रों में बोहनी हुई, जहां किसानों से करीब 587 क्विंटल धान खरीदा गया।

सोमवार को धान लाने 26 किसानों ने टोकन लिया था, मगर आधे किसान धान लेकर नहीं पहुंचे। पांच खरीदी केंद्र अकलतरा में 189 क्विंटल, बक्सरा में 20 क्विंटल, नंदेली में 289.60 क्विंटल, जेवरा में 38.40 अौर किरारी (अकलतरा) में करीब 50 क्विंटल धान आया। बाकी की 200 समितियों में धान खरीदी की अब तक शुरूआत नहीं हो पाई। धान मिंसाई का काम पूरा नहीं होने के कारण समितियों में किसानों के नहीं पहुंचने की बात कही जा रही है।

9 हजार 454 नए किसानों ने धान बेचने कराया है पंजीयन-इस साल जिले में धान बेचने के लिए 9 हजार 454 किसानों का संबंधित समितियों में पंजीयन हुआ है। पिछले साल भी 14 हजार नए किसान का पंजीयन हुआ था। इस साल 8 हजार 5 सौ 14 हेक्टेयर रकबा बढ़ा है। बलौदा ब्लॉक में भी फसल की स्थिति सूखे के चलते ठीक नहीं है जिसके चलते खरीदी का लक्ष्य प्रभावित हो सकता है।

नंदेली खरीदी केंद्र में सोमवार को खरीद गया धान।

इस साल 70 लाख क्विंटल धान खरीदी का लक्ष्य

विपणन संघ द्वारा इस साल 70 लाख क्विंटल धान खरीदी का लक्ष्य तय किया गया है। पिछले साल जिले में इतनी खरीदी हुई थी। इस साल पैदावार ठीक होने के साथ पंजीकृत किसानों की संख्या मेंइ हजार की बढ़ोतरी हुई है। इससे लक्ष्य के बराबर खरीदी होने का अनुमान है। इसी के अनुसार समितियों में बारदाने सहित रख-रखाव की तैयारियां की गई है।

टोकन कटवाने भी नहीं आ रहे किसान

किसानों की सुविधा के लिए टोकन सिस्टम चालू किया गया है। इससे किसान समिति में चाहें तो पहले आकर धान बेचने का टोकन लेकर जा सकते हैं और निर्धारित समय के भीतर आकर बेच सकते हैं। किसान टोकन भी लेने नहीं आ रहे हैं। सोमवार के लिए 26 किसानों ने टोकन लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here