धमतरी : रबी में लगाए धान की फसल में तनाछेदक कर रहा है नुकसान

0
115

धमतरी May 02, 2019

रबी फसल में ग्राम गातापार के किसानों की धान फसल में तनाछेदक रोग लग गया है। बार बार दवा डालने के बाद भी रोग बढ़ता जा रहा है। 4 एकड़ के किसान कल्याण ध्रुव, 15 एकड़ के किसान दिलीप साहू, 10 एकड़ के किसान चेतन धु्रव, 2 एकड़ के किसान विक्रम, 11 एकड़ के किसान भागवतराम साहू, 6 एकड़ के किसान बीरबलराम, शत्रुहन साहू ने बताया कि उन्होंने अच्छी फसल लेने के लिए पूरी मेहनत की। रोग फसल को बर्बाद कर रही है। अब तो खेतों में माहो भी दिखने लगे हैं। उसके खेतों में 75 प्रतिशत धान में तना छेदक हो गया है। दिलीप ने कहा कि उनके खेत में 50 प्रतिशत, चेतन की फसल में 20 प्रतिशत, विक्रम के धान में 75 प्रतिशत, भागवत के खेत पर 25 प्रतिशत, बीरबल की धान फसल में 50 प्रतिशत तनाछेदक होना बताया। दवा का भी असर ही नहीं हो रहा है।

वैज्ञानिकों का भी आना जाना बंद : विभाग के वैज्ञानिकों ने भी किसानों को सलाह देना बंद कर दिया है। पहले जगह जगह किसानों को एकत्र कर फसल के बारे में जानकारी देते थे। अब वैज्ञानिकों का आना जाना बंद हो गया है। वैज्ञानिक खेतों तक नहीं जा रहे हैं।

केवल बड़े किसानों को फायदा दे रहा है कृषि विभाग

किसानों ने बताया कि कृषि विभाग से यहां के किसानों को लाभ नहीं दिया जा रहा। पंप वाले क्षेत्रों में ज्यादा ध्यान दे रहे हैं। गांव में आते भी नहीं। सारे लाभ बड़े से बड़े किसानों को मिलता है। छोटे किसानों को विभाग लाभ नहीं दिया जा रहा। जैविक खेती के बारे में भी कुछ नहीं जानकारी किसानों को नही देते।

मनरेगा का काम शुरू करने की मांग, जल संकट भी

लोगों ने बताया कि गांव में मनरेगा का काम नहीं चल रहा है, लोग खाली हैं। जल संकट से गुजरना पड़ रहा है। गांव में 10 हैंडपंप है जिसमें से पांच चालू है बाकी बंद है। एक भी सार्वजनिक कुआं नहीं है। पीएचई के अफसर कभी नहीं आते।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here