उपार्जन केंद्रों पर इस बार नहीं बिकेगा पड़ोसी राज्यों का धान

0
109

महासमुंद| Oct 24, 2018

मंगलवार को जिला कार्यालय सभाकक्ष में कलेक्टर हिमशिखर गुप्ता ने धान खरीद की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने हिदायत दी कि उपार्जन केंद्रों पर पड़ोसी राज्यों के धान न बिकें। इसके लिए सीमावर्ती 26 धान उपार्जन केंद्रों पर विशेष ध्यान देना होगा।

कोचियों, बिचौलियों द्वारा धान के अवैध विक्रय के प्रयास को रोकना होगा। इसके लिए खाद्य विभाग, राजस्व विभाग एवं मंडी के अधिकारियों को धान की रिसाइकलिंग एवं अवैध परिवहन पर कड़ी निगरानी रखनी होगी। कलेक्टर ने बताया कि राज्य शासन द्वारा इस वर्ष किसानों से समर्थन मूल्य पर धान की खरीद आगामी एक नवंबर से 31 जनवरी 2019 तक की जाएगी। समर्थन मूल्य 1750 रुपये प्रति क्विंटल व धान ग्रेड ए का समर्थन मूल्य 1770 रुपये प्रति क्विटंल निर्धारित किया गया है। जिले में इस वर्ष किसानों से 6.5 लाख मैट्रिक टन धान खरीद का लक्ष्य है।

किसान अधिक पंजीकृत तो कराएं भौतिक सत्यापन

बैठक में यह भी कहा गया कि ऐसी समितियां जहां अधिक संख्या में नए किसान पंजीकृत हैं, उनमें से कुछ किसानों के रकबे का भौतिक सत्यापन कराया जाए। किसान पंजीयन के समय राज्य के अधिकतम जोत कानून का ध्यान रखा जाए। धान की खरीदी के लिए नए, पुराने बारदाने 60 अनुपात 40 के व्यवस्था की जाए। समितियों में सही गुणवत्ता युक्त धान खरीदी जाए। धान खरीद अवधि के दौरान नोडल अधिकारियों द्वारा समितियों का भौतिक सत्यापन मोबाइल एप द्वारा प्रत्येक सप्ताह किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here