बाजार अतरिया समिति में हो रही धान की बंपर आवक, उठाव नहीं होने से हुआ जाम

0
160

बाजार अतरिया Nov 27, 2018

बाजार अतरिया में स्थित धान खरीदी केंद्र में धान की बंपर आवक होने लगी है रोजाना 2000 से 4000 क्विंटल धान की आवक हो रही है। राजनांदगांव जिले के अंतिम छोर में बसे बाजार अतरिया में इस वर्ष धान का उत्पादन अधिक होने के कारण यहां के धान खरीदी केंद्र में बंपर आवक हो रही है।

यह उपार्जन केंद्र बाजार अतरिया में यहां आसपास के 11 गांव आते हैं इसमें भीमपुरी, कुकुरमुड़ा, बाजार अतरिया, कुसमी, भोरमपुर कला, बोरी, अछोली, जोराताराई, मदनपुर, डूडा एवं चंदेनी इन सभी गांव यह धान खरीदी केंद्र के अंतर्गत आते हैं। अभी तक बाजार अतरिया धान खरीदी केंद्र में कुल 17877.60 क्विंटल धान की आवक हो चुकी है इसमें 7936 मोटा धान, 7646.80 पतला धान एवं 2294.80 सरना धान की आवक हुई है इसमें कुल 420 किसान लाभान्वित हुए हैं।

खरीदे गए धान की कुल राशि 36 करोड़ अस्सी लाख दो हजार सोलह रुपए की खरीदी की गई है इसमें 16 करोड़ बैसठ लाख पांच हजार रुपए का शुद्ध भुगतान किसानों को किया गया है, इसमें 18 करोड़ तैंतीस लाख नौ हजार नौ सौ रुपए का किसानों से ऋण वसूली किया गया है और साथ ही एक करोड़ 83 लाख सात हजार 99 रुपए की शेष भुगतान राशि किया जाना है। साथ ही सेवा सहकारी समिति मर्यादित रगरा उपार्जन केंद्र में भी धान की बंपर आवक हो रही है। इसमें 98 किसान लाभान्वित हुए हैं। यह उपार्जन केंद्र में सोनपुरी, रगरा, दुल्लापुर, बड़गड़ा, एवं कादा यह सब गांव रगरा उपार्जन केंद्र के अंतर्गत आता है। जहां पर कुल 5111 क्विंटल खरीदी हो चुकी हैं इसमें 1479.60 मोटा धान 3450.80 क्विंटल, पतला धान 180.80 क्विंटल सरना धान की खरीदी की जा चुकी है इसमें दस करोड़ 54 लाख छ हजार नौ सौ छिहत्तर रुपए की धान खरीदी किया गया है। इसमें किसानों को 43 लाख 26 हजार 585 रुपए का भुगतान किया गया है और किसानों से 58 लाख 51 हजार 422 रुपए की किसानों से ऋण वसूली की गई है। दोनों धान उपार्जन केंद्र में धान की परिवहन नहीं हो पा रही है जिससे धान जाम हो गया है और जगह की कमी हो रही है। दो दिनों में धान का उठाव नहीं हुआ तो परेशानी बढेगी।

दो दिनों में उठाव नहीं हुआ तो समिति में धान खरीदी बंद होने की आशंका बढ़ी

बाजार अतरिया. समितियों में खरीदी के बाद रखा धान।

72 घंटे में उठाव का आदेश


समितियों में उठाव नहीं होने के कारण बंद हो सकती है खरीदी

घुमका| समर्थन मूल्य में धान खरीदी का 26 वां दिन पूरा हो रहा है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के स्थानीय शाखा के अंतर्गत घुमका, पदुमतरा, उपरवाह तीन समिति है। घुमका समिति के अंतर्गत उपार्जन केंद्र घुमका, पटेवा, भैंसातरा, पदुमतरा में एक, उपरवाह में दो, उपरवाह एवं बघेरा इन सभी उपार्जन केंद्र में मोटा धान 26 हजार 10 क्विंटल 80 किलो, पतला धान 20 हजार 495 क्विंटल 60 किलो, सरना धान 2695 क्विंटल 80 किलो। इस तरह से कुल 49 हजार 202 क्विंटल 20 किलो धान की खरीदी समितियों ने उपार्जन केंद्रों में कर लिया है।

किंतु घुमका समिति के किसी भी उपार्जन केंद्रों से एक भी दाना धान का उठाव न तो मिलर्स ने किया है और न ही संग्रहण केंद्रों में किया गया है। पदुमतरा से मात्र 4160 क्विंटल धान का उठाव मिलर्स में किया है। इसी तरह उपरवाह उपार्जन केंद्र से 1 हजार 200 क्विंटल धान का उठाव मिलर्स ने की। बघेरा उपार्जन केंद्र से 3120 क्विंटल धान का उठाव मिलर्स ने किया। संग्रहण केंद्र में अब तक इन उपार्जन केंद्रों से धान का परिवहन अब तक नहीं हो सका है। इस तरह से इन उपार्जन केंद्रों में धान की आवक बढ़ते क्रम पर है और उपार्जन केंद्रों से धान का परिवहन नहीं होने से समस्या गहराती जा रही है। घुमका समिति के भैंसातरा में यदि 2 दिनों के अंदर धान का उठान नहीं हुआ तो यहां खरीदी बंद करने की स्थिति बन जाएगी। चूंकि यहां पर स्टॉक रखने के लिए खरीदी केंद्र में रिक्त स्थान ही नहीं बचेगा।

नौ हजार किसानों ने धान बेचने कराया पंजीयन

घुमका, पदुमतरा, उपरवाह तीनों समितियों में कुल 9 हजार 81 कृषकों ने समर्थन मूल्य में धान बेचने पंजीयन करा रखा है। इनमें से अब तक 1128 कृषकों ने समर्थन मूल्य में धान बेचकर लाभांवित हुए हैं। समिति प्रबंधक मनहरण लाल श्रीवास ने बताया कि 10 करोड़ 12 लाख 74 हजार 422 रुपए की खरीदी की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि धान खरीदी के लिए बनाए गए सभी फड़ हाउसफुल है। धान का उठाव यदि नहीं हुआ तो फड़ का इंतजाम करना पड़ेगा, जो समिति को अतिरिक्त खर्च का भार पड़ेगा। चूहे अलग परेशान कर रहे हैं। रखे-रखे धान सूख रहा है जिससे वजन में भी कमी आ सकती है। इन सब का बोझ समिति को ही भुगतना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here