दूसरे दिन तक खरीदा गया 87,709 क्विंटल धान कलेक्टर बोले- 17 प्रतिशत से अधिक न हो नमी

0
144

आंचलिक Dec 05, 2019

जिले में एक दिसंबर से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी शुरू हो गई है। जिले के सभी 38 उपार्जन केंद्रों के 62 सोसायटियों में धान खरीदी की जा रही है। धान खरीदी के दूसरे दिन तक जिले के सभी उपार्जन केंद्रों में 87 हजार 709 क्विंटल धान की खरीदी की गई।

कलेक्टर श्याम धावड़े ने धान खरीदी केंद्र प्रभारियों को निर्देश दिए हैं कि धान नमी का औसत 17 प्रतिशत से अधिक नहीं होना चाहिए। किसानों को धान अच्छी तरह सुखाकर एवं सफाई कर विक्रय के लिए लाने कहा है। टोकन का 5 प्रतिशत सत्यापन अनिवार्य रूप से करने के निर्देश भी दिए हैं। टोकन प्राप्त किसान भौतिक रूप से उपस्थित रहे तथा उनके पास पंजीयन प्रमाण पत्र उपलब्ध हो। साथ ही समिति प्रबंधकों को बारदाना किसानों को घर ले जाने के लिए नहीं देने भी कहा गया है।

जिला खाद्य अधिकारी एचके डड़सेना ने बताया कि इस वर्ष समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 1 दिसंबर से 15 फरवरी तक की जाएगी। जिले में कुल 38 सहकारी समिति के अंतर्गत 62 उपार्जन केंद्रों के माध्यम से समर्थन मूल्य में धान खरीदी की जाएगी। इस वर्ष 3 लाख 17 हजार 105 टन धान खरीदने का लक्ष्य रखा गया है तथा 72 हजार किसानों का पंजीयन किया गया है। ग्राम मरोदा और गोहरापदर नए धान उपार्जन केंद्र के रूप में स्वीकृत किया गया है।

गरियाबंद. सहकारी समिति में बेचने के लिए किसानों द्वारा लाए धान की तौलाई करते कर्मचारी।

धान बेचने दूसरे को ऋण पुस्तिका देना अपराध: कलेक्टर

गरियाबंद| धान खरीदी शुरू होने के बाद कलेक्टर के निर्देश पर जिले के प्रमुख अधिकारी लगातार धान खरीदी केंद्रों का निरीक्षण कर रहे हैं। अवैध धान परिवहन पर रोक लगाने जुटे हुए हैं। अधिकारी निरीक्षण के दौरान मास्चर्स मशीन से धान की नमी, किसानों को टोकन की उपलब्धता, किसानों की ऋण पुस्तिका मिलान, धान बोरे की व्यवस्था और उपार्जन केंद्रों की व्यवस्था पर पैनी निगाह रख रहे हैं। अधिकारियों के निरीक्षण से बिचौलियों व कोचियों के हौसले पस्त हुए हैं। वहीं उपार्जन केंद्रों में अन्य जगह की धान खपाने के उनके मनसुबे पर पानी फिर गया है।

कलेक्टर धावड़े ने भी अधिकारियों द्वारा धान खरीदी केंद्रों के सतत निरीक्षण की सराहना की है। उन्होंने कहा कि उपार्जन केंद्रों में अधिकारी किसानों के साथ संयमित व्यवहार बरतते हुए बिचौलियों को हर संभव हतोत्साहित करें। धान खरीदी का कार्य सुबह 6 से शाम 05 बजे तक ही हो। किसानों को यह अवगत कराया जाए कि स्वयं की ऋण पुस्तिका धान बिक्री के लिए दूसरे को उपलब्ध कराना गंभीर अपराध है।

धान खरीदी केंद्र का निरीक्षण करने पहुंची जिला आबकारी अधिकारी।

अर्जुनी केंद्र में 3296 क्विंटल धान की खरीदी

अर्जुनी. धान खरीदी केंद्र अर्जुनी में धान की नमी जांचते कर्मचारी।

अर्जुनी| धान खरीदी केंद्र अर्जुनी में 3 दिसंबर तक कुल 3296.80 क्विंटल धान की खरीदी की गई है। इसमें मोटा धान 47.60 क्विंटल, महामाया धान 2486.80 क्विटल, पतला धान 104 क्विंटल की खरीदी की गई। 3 दिनों में किसानों को 59,85,772 रुपए का भुगतान किया गया है। इसमें सोसायटी ऋण वसूली 21,25,797 रुपए किया गया है।

समिति के अध्यक्ष देवकुमार वर्मा ने बताया कि इस समिति में ग्राम अर्जुनी, खैरताल, रवान, मगरवाय, टोनाटार, नवागांव, टोपा, गोढी, अमलीडीह आदि ग्रामों के किसान समर्थन मूल्य पर धान बेचने आते हैं। समिति द्वारा 17 प्रतिशत नमी चेक कर धान को तौल कराया जाता है। समिति प्रबंधक मुक्तानंद वर्मा ने बताया कि ग्राम खैरी (क) व ग्राम अर्जुनी के खरीदी केंद्र में बारदाना पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। अभी धान का परिवहन शुरू नही किया गया है।

खरीदी केंद्रों में गड़बड़ी रोकने कांग्रेस ने बनाई समिति

सुहेला| जिला कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश यदु की अनुशंसा पर ब्लॉक कांग्रेस के अध्यक्ष रामखिलावन शर्मा ने सुहेला ब्लॉक के सभी शासकीय धान खरीदी केंद्रों में 2 सदस्यीय निगरानी समिति का गठन किया है।

शर्मा ने बताया कि गठित निगरानी समिति के सदस्य धान खरीदी केंद्रों में जाकर किसी प्रकार की गड़बड़ी अथवा किसानों को होने वाली परेशानियों की जानकारी लेकर सीधे ब्लॉक कांग्रेस कमेटी को जानकारी देंगे। सुहेला शासकीय धान खरीदी केंद्र में विनोद कुमार साहू एवं भानुप्रताप वर्मा, फरहदा (जरौद) में लखेश्वर नेताम एवं रामजी धुव, हथबंद खरीदी केंद्र में संतोषधर दीवान व रामसुधार जांगड़े, शिकारी केशली में प्रेमलाल सोनवानी, विष्णुदेव यदु, रावन समिति में राजू सेन, तोपेश्वर वर्मा, खिलोरा के लिए कमलेश वर्मा व हरिराम साहू, मोहरा में दयाराम यदु और पूना राम सेन, भटभेरा खरीदी केंद्र के लिए उमेश खरे को निगरानी समिति का सदस्य बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here