साहब के तीखे तेवर किसान यदि कोचिए का धान बेचते मिले तो पंजीयन रद्द

0
28

कवर्धा Nov 22, 2019

धान खरीदी विपणन वर्ष 2019- 20 की तैयारियों और त्रुटि रहित रकबों के संशोधन को लेकर गुरुवार को वीर सावरकर भवन कवर्धा में समिति प्रबंधकों, कंप्यूटर ऑपरेटर्स और पटवारियों की संयुक्त मीटिंग हुई। मीटिंग में अपर कलेक्टर (एडीएम) जीवन किशोर ध्रुव ने शासन के निर्देशानुसार त्रुटि रहित रकबों का संशोधन शीघ्र करने हिदायत दी।

चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा कि 4 दिन हैं तुम्हारे पास..। अगर पंजीकृत रकबों में कोई गलती है, तो उसे सुधार लो। बाद में जांच के दौरान किसी भी तरह की गड़बड़ी पाई गई, तो संबंधित पटवारी, समिति प्रबंधक और कंप्यूटर ऑपरेटर के खिलाफ थाने में एफआईआर कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि यदि कोई किसान कोचिए का धान बेचते पाया गया, तो उसका पंजीयन रद्द किया जाएगा। कोचियों, बिचौलियों के खिलाफ कार्रवाई इसलिए की है, ताकि वास्तविक किसानों को योजनाओं का लाभ मिल सके।

एडीएम बोले; पूरे 4 दिन हैं तुम्हारे पास, रकबे में यदि कोई गलती है तो सुधार लो बाद में गड़बड़ी मिली तो पटवारी और समिति प्रबंधकों पर होगी सीधे एफआईआर

चेतावनी: धान खरीदी व त्रुटि रहित रकबे का संशोधन करने पर दिया गया जोर

कवर्धा. धान खरीदी के संबंध में वीर सावरकर भवन कवर्धा में हुई मीटिंग।

खरीदी केंद्र में न हो परेशानी, किसानों के लिए पेयजल और छांव की व्यवस्था करने निर्देश

बैठक में अपर कलेक्टर श्री ध्रुव ने किसानों के लिए धान खरीदी केन्द्र में पेयजल व बैठने की व्यवस्था करने निर्देश दिए हैं। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 1 दिसंबर से शुरू होगी, जो 15 फरवरी 2020 तक चलेगा। इस दौरान कोचिए अथवा अन्य व्यक्ति धान का अवैध परिवहन करते या बेचते पाए जाने पर एफआईआर दर्ज किया जाएगा। बैठक में जिला सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी बद्रीप्रसाद चंद्रवंशी, डिप्टी कलेक्टर अनिल सिदार और तहसीलदार उपस्थित रहे।

अफसरों का दावा; कांटा-बाट का सत्यापन हो चुका

बैठक में प्रभारी खाद्य अधिकारी अरूण मेश्राम ने बताया कि खरीदी के लिए जिले में कुल 84 उपार्जन केंद्र हैं। इन केंद्रों में कांटा- बाट का सत्यापन किया जा चुका है। खरीफ विपणन वर्ष 2019- 20 में 86,320 किसानों ने पंजीयन कराया है। सभी धान खरीदी केंद्रों के लिए नोडल अधिकारी व सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। धान के अवैध परिवहन को रोकने के लिए 14 बैरियर लगाए गए हैं, जिसमें 24 घंटे निगरानी किया जा रहा है। राज्य और जिला स्तरीय उड़नदस्ता नियुक्त किया गया है। धान का कोचियों और अन्य व्यक्ति द्वारा अफरा- तफरी किए जाने पर एफआईआर दर्ज किया जाएगा। वाहन को राजसात करने कार्रवाई की जाएगी। ऐसी कोई भी जानकारी मिलने पर खाद्य विभाग ने कंट्रोल रूम बनाया है। कंट्रोल रूम का नंबर 07741-232048 है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here