कलेक्टर को ज्ञापन देने पौने पांच घंटे अड़े रहे किसान विधायक को घेरा और लगवाए नारे, नेताओं को लौटाया

0
121

शिवपुरी | Sep 25, 2018

किसान संघ ने अपनी मांगों काे लेकर सोमवार को कलेक्टोरेट परिसर में पौने पांच घंटे तक हंगामा किया। कलेक्टर को ज्ञापन देने पर अड़े किसानों ने दो बार आए डिप्टी कलेक्टरों को बैरंग लौटा दिया और कलेक्टोरेट के बाहर ही धरने पर बैठ गए। किसानों का हंगामा देख वे कलेक्टोरेट के अंदर न घुस जाएं इसलिए मुख्य गेट पर ताला लगा दिया गया। इसी बीच कलेक्टर से मिलने के लिए पहुंचे पोहरी विधायक प्रहलाद ने भी किसानों के दबाव में किसान संघ जिंदाबाद के नारे लगाए। विरोध प्रदर्शन के बीच अपनी राजनीतिक रोटियां सेकने के लिए आए भाजपा जिलाध्यक्ष सुशील रधुवंशी और आप नेताओं को भी किसान संघ ने वापस लौटा दिया। हालांकि बाद में किसानों का ज्ञापन कलेक्टर ने लिया और कार्रवाई का आश्वासन दिया। किसानों ने चेतावनी दी कि यदि सात दिन में कार्रवाई नहीं हुई तो संघ आंदोलन करेगा और विस चुनाव का बहिष्कार करेगा।

सोमवार को करीब 12 बजे किसान अपनी मांगों के समर्थन में कलेक्टर को ज्ञापन देने कलेक्टोरेट पहुंचे। कलेक्टर मीटिंग में व्यस्त थी इसलिए डिप्टी कलेक्टर आरबी सिंडोस्कर ज्ञापन लेने आए लेकिन किसानों ने उन्हें ज्ञापन देने के बजाए खरीखोटी सुना दी। किसानों ने कहा कि कलेक्टर को ही ज्ञापन देंगे। क्योंकि आपके पटवारी, तहसीलदार सब रिश्वत ले रहे हैं, इन पर आप कार्रवाई तो कर नहीं सकते। करीब दस मिनट रुकने के बाद डिप्टी कलेक्टर चले गए। इस पर किसानों का प्रदर्शन और तेज हो गया। करीब 2 बजकर 15 मिनट पर डिप्टी कलेक्टर मक्सूद अहमद वहां पहुंचे। किसान उनसे भी नाराज होकर बोले कि ऐसा कब तक चलेगा। बीजेपी के ज्ञापन कलेक्टर ले लेती हैं और हमारे ज्ञापन लेने आने के लिए समय नहीं है। इस दौरान किसानों ने डिप्टी कलेक्टर अहमद के सामने ही प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए।

भाजपा जिलाध्यक्ष से कहा- आप भाजपा से हो, हम आपके साथ क्यों जाएं

धरने पर बैठे किसानों से 3 बजकर 45 मिनट पर कलेक्टर चेंबर से बाहर निकलकर भाजपा जिलाध्यक्ष सुशील रघुवंशी किसानों से बोले कि 5 लोग जाकर मिल लो। किसान बोले 50 किसान जाएंगे। रघुवंशी कलेक्टर से मिलने दोबारा गए और 10 मिनट बाद आकर उन्होंने कहा कि डेस्क पर जाकर कलेक्टर को ज्ञापन दे दो। चूंकि किसान इस आंदोलन में किसी राजनीतिक पार्टी को शामिल नहीं करना चाहते थे इसलिए जिलाध्यक्ष से कह दिया कि हमें आपकी जरूरत नहीं है। आप भाजपा से हो इसलिए हम आपके साथ क्यों जाएं। भाजपा जिलाध्यक्ष के जाते ही वहां आप के कुछ कार्यकर्ता आकर कहने लगे कि हम आपके साथ हैं। इस पर किसानों ने उनसे कहा कि यदि यहां बैठना है तो टोपी उतारकर बैठो, यहां नेतागिरी नहीं हो रही है।

विधायक को किसानों ने घेरा तो सात मिनट साथ बैठकर लगाने पड़े नारे

कलेक्टर से मिलने के लिए पोहरी विधायक प्रहलाद भारती 2 बजकर 30 मिनट पर कलेक्टोरेट पहुंचे तो उन्हें धरना दे रहे किसानों ने घेर लिया। चूंकि कलेक्टोरेट के गेट का ताला लगा था। इसलिए कर्मचारियों ने भी उन्हें अनदेखा कर दिया। विधायक को कलेक्टोरेट में किसानों ने घेरकर साथ बिठा लिया। विधायक ने खुद का बचाव करते हुए किसानों के बीच किसान संघ जिंदाबाद के नारे लगा दिए। करीब सात मिनट यहां पर रुकने के बाद विधायक भारती कलेक्टर से बिना मिले लौट गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here