धूप ने बढ़ाई किसानों की चिंता, बारिश की जरूरत

0
173

बिलासपुर | Sep 12, 2018

शहर सहित ग्रामीण इलाकों में भी मौसम बदल चुका है। पिछले पांच दिनों से बारिश नहीं हुई है और आसमान से बादल नदारद हो चुके हैं। शहर में तापमान बढ़ रहा है तो ग्रामीण इलाकों में किसानों की चिंता। जानकारों का कहना है कि अब तक खेती ठीक है लेकिन यदि इस माह दो बार अच्छी बारिश नहीं हुई तो खेती पर विपरीत असर पड़ेगा और किसानों को नुकसान उठाना पड़ सकता है।

सितंबर का दूसरा सप्ताह शुरू हो चुका है और बारिश कमजोर हो गई है। मानसून धीरे-धीरे निष्क्रिय होता जा रहा है और इसका ही नतीजा है कि अच्छी बारिश हुए एक सप्ताह से ज्यादा गुजर चुका है। बीच में छिटपुट बारिश हुई है लेकिन इसका कोई असर नहीं हुआ। अगस्त के अंत से लेकर सितंबर के शुरुआती दिनों में बियासी के लिए किसानों को पानी की जरूरत थी, बारिश होने से उन्हें परेशानी नहीं हुई। जिले में बियासी का काम लगभग पूरा हो चुका है। बियासी के साथ ही अब निंदाई का काम भी समापन की ओर है। इस बार जिले में 2 लाख 14 हजार हेक्टेयर में धान की खेती की जा रही है। अब तक जिले में अच्छी बारिश हुई है। जिले में 803 मिमी बारिश हुई है। दस वर्षों की औसत बारिश से कुछ है लेकिन पिछले वर्ष की तुलना में कहीं अधिक है। खेती के लिहाज से बारिश पर्याप्त है लेकिन अगले बीस दिनों में दो बार अच्छी बारिश की जरूरत पड़ेगी। लगातार तेज धूप खिलने से किसान बारिश को लेकर थोड़े चिंतित होने लगे हैं। खासतौर पर जिनके पास ट्यूवबेल नहीं है, वे ज्यादा चिंतित हैं। कृषि विभाग के उप संचालक आरजी अहिरवार के मुताबिक अब तक खेती ठीक है। बारिश ठीक हुई है। आगामी दिनों में कम से कम दो बार बारिश की जरूरत पड़ेगी।

इस बार 2 लाख 14 हजार हेक्टेयर में हो रही धान की खेती, तत्काल जरूरत नहीं है लेकिन आने वाले दिनों लगेगा पानी 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here