भावांतर में नहीं दिख रहा किसानों का रुझान 2 लोग ही पहुंचे कृषि उपज मंडी

0
155

होशंगाबाद Oct 24, 2018

शहर की आईटीआई रोड स्थित कृषि उपज मंडी में भावांतर योजना के तहत शुरू किए गए खरीदी केंद्र में मंगलवार को नाम मात्र के किसान पहुंचे। योजना में मंगलवार को मात्र 2 किसान ही मंडी पहुंचे। इन्होंने 34 क्विंटल सोयाबीन को बेचा।

इस दौरान न्यूनतम 2 हजार से लेकर अधिकतम 3100 रुपए प्रति क्विंटल सोयाबीन की खरीदी की गई। इस बार शासन ने भावांतर योजना के तहत सोयाबीन व मक्का को ही शामिल किया है। जिसमें प्रत्येक क्विंटल की खरीदी पर किसानों को 500 रुपए फ्लैट रेट मिलेगा। इसके बावजूद भी इस बार किसानों का रुझान नजर नहीं आ रहा है। जबकि बीते साल योजना शुरू होते ही एक साथ सैकड़ों किसान मंडियों में अपनी उपज लेकर टूट पड़े थे। इस बार जिले में 48 हजार किसानों ने ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीयन कराया है। शनिवार से जिले की सभी मंडियों में भावांतर के तहत सोयाबीन व मक्का की खरीदी शुरू हो गई है। हालांकि भावांतर में होने वाली गड़बडिय़ों पर लगाम लगाने के लिए शासन ने कई नए प्रयोग शुरू किए हैं। किसान को भावांतर में उपज विक्रय के लिए मंडी गेट पर एंट्री के समय किसान कोड बताना होगा। इससे प्रवेश पर्ची निकालने व भावांतर बिल पिछली तारीख का लगाने पर लोकेशन ट्रेस हो जाएगी। जिससे फर्जीवाड़े पर रोक लग सकेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here