प्रधानमंत्री मोदी किसानों को करेंगे संबोधित

0
137

जांजगीर-चांपा | Sep 22, 2018

नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद चार बार छत्तीसगढ़ के दौरे पर आ गए हैं। शनिवार को जब वे जांजगीर पहुंचेंगे तो पांचवीं बार बतौर प्रधानमंत्री छत्तीसगढ़ आएंगे, लेकिन जांजगीर आने वाले वे पहले प्रधानमंत्री होंगे। पीएम नरेंद्र मोदी की आम सभा शनिवार 22 सितंबर को होगी। वे किसान सभा को संबोधित करेंगे। इस कार्यक्रम में एक लाख लोगों के आने की संभावना है, लोगों के बैठने के लिए पांच बड़े डोम पंडाल बनाए गए हैं। उनके साथ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, केन्द्रीय इस्पात मंत्री विष्णु देव साय, मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, अमर अग्रवाल, प्रेमप्रकाश पांडेय, राजेश मूणत, रमशीला साहू, अन्य मंत्री व विधायक तथा आयोग, मंडल के अध्यक्ष भी पहुंचेंगे।

प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी सबसे पहले 9 मई 2015 को दंतेवाड़ा, 21 फरवरी 2016 को नया रायपुर, डोंगरगढ़ का दौरा किया था। राज्य स्थापना दिवस के मौके पर मोदी 1 नवंबर 2016 और इस साल 14 अप्रैल को बीजापुर के जांगला गए थे।

किसी भी प्रधानमंत्री का जांजगीर में पहला दौरा, सभा के लिए बनाए गए स्टेज को फूलों से सजाया

लोकार्पण-शिलान्यास करेंगे

चुनावी वर्ष में सरकार का पूरा फोकस किसानों पर है, जिला भी कृषि प्रधान है इसलिए अटल विकास यात्रा में पहली प्राथमिकता किसान सम्मेलन को दी गई है। पीएम नरेंद्र मोदी किसानों को संबाेधित करेंगे। इसके अलावा भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की सड़कों का लोकार्पण व भूमिपूजन करेंगे तथा दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की बिलासपुर-अनूपपुर तीसरी लाइन का शिलान्यास भी करेंगे।

पांच डोम में 41 बड़ी स्क्रीन

प्रधानमंत्री को सभा स्थल में बैठे लोग करीब से देख सकें इसके लिए बड़ी- बड़ी स्क्रीन की व्यवस्था की गई है। क्योंकि मंच से पंडाल के आखिरी छोर की दूरी कम से कम दो सौ मीटर है व चौड़ाई भी करीब 150 मीटर से अधिक ही है, इसलिए सभी लोग सीधा देख सकें ऐसा संभव नहीं है इसलिए पांचाें पंडाल में करीब 41 बड़ी बड़ी स्क्रीन लगाई गई है जिससे कि लोगों को महसूस होगा कि वे प्रधानमंत्री को सीधा सामने से देख रहे हैं।

1.25 मिनट रहेंगे जिले में

प्रधानमंत्री का मिनट टू मिनट कार्यक्रम सुरक्षा कारणों से जारी नहीं किया गया है, फिर भी सूत्रों के अनुसार वायुसेना के हेलिकॉटर से झारसुगड़ा से दोपहर 2:20 बजे रवाना होकर दोपहर 3 बजे जांजगीर पहुंचेंगे और करीब 4.45 बजे वे जांजगीर से उड़ जाएंगे।

2003 व 08 में आए थे

नरेंद्र मोदी जांजगीर जिले में तीसरी बार आएंगे। वे जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब 2003 में हुए विधान सभा चुनाव में जांजगीर -चांपा के प्रत्याशी नारायण चंदेल के समर्थन में सभा लेने के लिए चांपा आए थे। इसके बाद वर्ष 2008 में वे दूसरी बार बतौर मुख्यमंत्री ही अंबेश जांगड़े के समर्थन में चुनाव प्रचार करने के लिए शिवरीनारायण पहुंचे थे। इससे पहले वे जब एनडीए के प्रधानमंत्री उम्मीदवार थे जुलाई 2013 में अंबिकापुर में सभा कर चुके हैं।

जांजगीर-चांपा | बिलासपुर में कांग्रेस कार्यालय में घुसकर पुलिस द्वारा कांग्रेस कार्यकर्ताओं की पिटाई के विरोध में शनिवार 22 सितंबर को कांग्रेसी जिले में उग्र प्रदर्शन करेंगे। हालांकि उन्हें जिला मुख्यालय में प्रदर्शन करने की अनुमति एसपीजी की सुरक्षा का हवाला देते हुए नहीं दी गई है। उन्हें जांजगीर से बाहर अकलतरा और चांपा में प्रदर्शन की अनुमति दी गई है।

पिछले दिनों बिलासपुर में पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं को कांग्रेस दफ्तर में घुस कर पिटाई की थी। जिसमें कांग्रेस के कई नेता गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस घटना के विरोध में कांग्रेस ने प्रधानमंत्री की सभा का विरोध करने का निर्णय लिया है। शुक्रवार को भी कांग्रेस के नेता दफ्तर का चक्कर काटते रहे पर वे अफसरों को आवेदन नहीं दे पाए। प्रधानमंत्री का विरोध करने के लिए भूपेश बघेल, डॉ. चरणदास महंत, नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, एआईसीसी के सचिव चंदन यादव, कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष डॉ. शिव डहरिया, रामदयाल उइके सहित सभी विधायक प्रदेश भर के जिलाध्यक्ष, प्रदेश पदाधिकारी विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी शामिल होंगे। कांग्रेसियों को जिला मुख्यालय में प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं मिली है।

किस रूट से आने वाले कहां की सभा में होंगे शामिल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here