मंडी में बेचे प्याज व चने की राशि के लिए दो माह से चक्कर काट रहे हैं किसान

0
214

राजगढ़ | Sep 27, 2018

क्षेत्र के किसानों ने भावांतर योजना के तहत मंडी में प्याल, लहसुन ओर चने की उपज बेची थी। जिसकी राशि दो माह बाद भी नहीं मिलने से किसान रोजाना मंडी के चक्कर काट रहे है। बताया जा रहा है कि पोर्टल बंद होने से 593 किसानों को यह राशि नहीं मिली है। कुल 3 लाख 68 हजार 287 क्विंटल लहसुन 8 रु. किलो के भाव एवं 5 लाख 55 हजार 468 क्विंटल प्याज 4 रु. किलो के भाव से किसानों ने बेचा था। जिसकी राशि किसानों के खातों में जमा होना थी लेकिन वह अब तक नहीं हुई हैं।

गांव भरावदा के किसान हरिसिंह दाहोदिया ने बताया 11 क्विंटल 50 किलो चना बेचा था। 50 हजार 600 रु. का भुगतान अटका पड़ा है। श्रीकांत सुभाष पटेल ने बताया 35 क्विंटल के 1 लाख 56 हजार 200 रु., शंकर पटेल दलपुरा और दिग्विजय सिंह गलुंडा ने 21 क्विंटल चना बेचा था। जिसकी राशि आज तक खातों में जमा नहीं हुई है। हत्याखेड़ी के देवभाई रतन सिंह ने 650 क्विंटल प्याज, जोलाना के अजय पाल सिंह जोलाना ने 800 क्विंटल प्याज, दसई के राजाराम मांगीलाल ने 200 क्विंटल प्याज, हरिदास जोलाना ने 550 क्विंटल, सुदर्शन सिंह ने 440 क्विंटल प्याज बेचा था। अन्य किसानों ने बेची उपज की भी राशि नहीं मिली है। 6 जून को उपज बेचने के बाद से किसान राशि के लिए मंडी में चक्कर काट रहे है। मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर ऑनलाइन शिकायत भी दर्ज करा चुके है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही। अधिकारी भी सही जवाब नहीं दे पा रहे है। किसानों ने बताया राशि नहीं मिलने से कई काम अटके पड़े है।

राजगढ़. बेची उपज की राशि के लिए मंडी पहुंचे किसान।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here