MP – अच्छी बारिश के बाद खुला मौसम सोयाबीन में बेस्ट कलर लाएगा

0
579

उज्जैन | अच्छी बारिश के बाद खुला मौसम सोयाबीन में बेस्ट कलर लाएगा। किसानों के अनुसार अभी तक उपज पर कोई खतरा नहीं है, लेकिन किसानों ने इल्ली व चारानाशक दवाओं का छिड़काव शुरू कर दिया है। इस बार मालवा में सर्वाधिक सोयाबीन का रकबा रखा गया है।

सोयाबीन का अंतरराष्ट्रीय व्यापार सस्ते भावों का चल रहा है। इन भावों पर भी मांग नहीं आने से स्टॉक का साेयाबीन ब्याज से भारी पड़ गया। आने वाली उपज बंपर उतरी तो पुराना महंगे भाव का सोयाबीन सस्ता बेचना पड़ सकता है। उज्जैन मंडी में सीधे प्लांट की खरीदी होने से किसानों को अच्छे भाव मिलते हैं। स्टॉक करने वाले व्यापारी इसमें लगातार नुकसान की स्थिति में चल रहे हैं। उज्जैन का बीज समुद्री लंगर तक पहुंच गया है। सस्ते दाम में मजदूरी भाड़ा जेब से लग गया। इस बार भी नई सोयाबीन की उपज बंपर आने की स्थिति है। मंडी में अधिकतम दाम 3450 रुपए के चल रहे हैं।

चना व्यापार हुआ बेदम

सात दिन बाद मंडी खुलने पर भी कोई खास व्यापार नहीं रहा। चना डॉलर वाले भाव और ग्राहक तलाशने लगे हैं। एक-दो बेसन मिल वाले भी डॉलर वालों के संपर्क में चल रहे हैं। विदेशों से डॉलर चने का व्यापार नहीं मिलने से इसकी स्थिति अच्छी नहीं है। उज्जैन और आसपास की मंडियों से डॉलर और लाल चने का व्यापार करने वाले एक-दो व्यापारी ही लाभ में बताए जा रहे हैं। मंडी व्यापार में किसी भी प्रकार की हलचल नहीं है। 50 से 60 लाख का चूना इस व्यापार में अपने वाले ने ही लगाकर घाटा पूरा कर लिया। आखिर कौन है जो इस प्रकार का बड़ा नुकसान दे गया। लाखों रुपए की लेनदारी वाले खामोश हैं। डॉलर का स्टॉक व्यापार खासकर छोटे व्यापारियों के लिए फायदे वाला नहीं रहा। 50 बोरी भी रखा तो 60 हजार रुपए का घाटा आ गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here