MP – कपास की खराब हो रही फसल ने बढ़ाई खरगोन के किसानों की चिंता

0
577

जिला कलेक्ट्रेट में कसरावद, बिस्टान, उमरखली, कुकडोल, मोहना, बहादरपुरा सहित करीब आधा दर्जन गांवों के किसान खेतों में खड़ी कपास की फसल बर्बाद होने पर मुआवजे की मांग को लेकर एसडीएम को कलेक्टर के नाम ज्ञापन भीं सौंपा.

खरगोन में आधा दर्जन गांवों के किसान बरसात के मौसम में खराब हो रही कपास की फसल के पौधे लेकर जिला कलेक्ट्रेट पहुंचे. फसल में फैल रहे वायरस के चलते हजारों एकड़ में ग्रर्मी के कपास की फसल खराब होने के बाद परेशान किसानों ने कलेक्टर से मदद की गुहार लगाई.

जिला कलेक्ट्रेट में कसरावद, बिस्टान, उमरखली, कुकडोल, मोहना, बहादरपुरा सहित करीब आधा दर्जन गांवों के किसान खेतों में खड़ी कपास की फसल बर्बाद होने पर मुआवजे की मांग को लेकर एसडीएम को कलेक्टर के नाम ज्ञापन भीं सौंपा. किसानों की समस्याओं को देखते हुए एसडीएम ने कृषि विभाग को जांच के आदेश दे दिए हैं.

खरगोन के कई गांवों में गर्मी में बोयी गई कपास की फसल खराब होने से किसान चिंतित नजर आ रहे हैं. फसल खराब होने के कारण किसानों को परिवार के भरण पोषण और आर्थिक कर्ज की चिंता सताने लगी है. एसडीएम से अपने पीड़ा बताकर किसानों ने प्रशासन से मुआवजे की मांग की है. किसानों का कहना है कि गर्मी के कपास की फसल पर किसानों ने अच्छे उत्पादन के लिए खाद और दवाईयों पर हजारों रुपये खर्च कर दिए हैं, लेकिन फसल दिन ब दिन खराब होती जा रही है.

किसानों का कहना कि जिले भर के अधिकांश गांवों में कपास की फसल खराब हो रही है. उन्होंने कहा कि अगर प्रशासन किसानों की सहायता नहीं करता है तो किसान बर्बाद हो जाएंगे. एसडीएम अभिषेक गहलोत ने बताया कि किसानों से फसल खराब होने का ज्ञापन मिला है. इस मामले को लेकर कृषि वैज्ञानिकों से चर्चा की गई है. कृषि वैज्ञानिक इसे प्राथमिक दृष्टी से फंगस का प्रकोप बता रहे हैं. उन्होंने कहा कि कृषि विभाग की टीम गठित कर खेतों का मुआयना कर किसानों की हर संभव सहायता की जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here