MP शाजापुर – भारतीय किसान संघ ने बताई किसानों की समस्या

0
535

भारतीय किसान संघ ने बताई किसानों की समस्या

11 जुलाई को कालापीपल में कार्यक्रम के दौरान बीमा क्लेम वितरण शुरू हो गया, लेकिन कई किसानों के खातों में अब तक क्लेम जमा नहीं हो सका। इसको लेकर बुधवार को भारतीय किसान संघ के पदाधिकारी शाजापुर पहुंचे। उन्होंने तसीलदार के नाम नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। किसानों का आरोप है कि सहकारी सोसायटियों में क्लेम आने के बाद भी वहां के कर्मचारी किसानों के खाते में जमा नहीं करा रहे हैं। न ही किसानों को बीमा राशि संबंधी सूची दिखा रहे हैं। इस कारण किसान अब तक गफलत में हैं।

किसान संघ के जिलाध्यक्ष मोहन चौधरी ने बताया सोसायटियों के कर्मचारी जान-बूझकर किसानों के खातों में क्लेम जमा नहीं कर रहे हैं। किसानों के क्लेम की राशि का उपयोग अभी बैंक ही अपने स्तर से करने में लगी है। अगले 15 दिन में यदि किसानों के खातों में बीमा राशि जमा नहीं हुई तो संघ आंदोलन करेगा। साथ ही ज्ञापन में बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में असंगठित श्रमिक पंजीयन कराने वाली लिंक 15 दिन से बंद पड़ी है। इसमें नाम जुड़वाने के नाम पर सरपंच-सचिव लोगों से वसूली कर रहे हैं। अवैध वसूली पर तत्काल रोक लगाई जाए। इस दौरान तहसील अध्यक्ष मुकेश पाटीदार, सुरेंद्रसिंह परिहार, फूलसिंह गुर्जर, विक्रम सिंह, ज्ञान सिंह गुर्जर, चंद्रकांत व्यास, मांगीलाल विश्वकर्मा, राधेश्याम पाटीदार आदि मौजूद थे।

500 किसानों ने की कोर्ट जाने की तैयारी

क्लेम नहीं मिलने से असंतुष्ट सलसलाई क्षेत्र के 500 किसानों ने कोर्ट जाने की तैयारी की ली है। वकील को सारे दस्तावेज सौंप दिए हैं। जल्द ही उपभोक्ता फोरम या हाईकोर्ट में याचिका लगाकर वे अधिकार के लिए लड़ाई लड़ेंगे।

बकायादार किसानों से रिकवरी भी इसी राशि से करेंगे

फसल बीमा क्लेम जिन किसानों को मिलना है, वे यदि सोसायटियों के कर्जदार हैं तो उनके बीमा क्लेम में से सोसायटियां उक्त राशि काट लेगी। यानी क्लेम राशि से सोसायटियों की वसूली भी हो जाएगी।

किसानों के नामों की सूची बताने में कोई ऐतराज नहीं

सभी किसानों के खातों में क्लेम राशि जमा हो चुकी है। सोसायटियों पर किसानों के नाम की सूची बताने में भी कोई ऐतराज नहीं है। यदि कहीं ऐसा है तो किसान मुझे बताएं। तत्काल समस्या का निपटारा कराया जाएगा। रही बात बकायादार किसानों की, तो उनकी रिकवरी क्लेम राशि के माध्यम से की जाएगी। डी.आर. सरोठिया, सीईओ, सीसीबी, शाजापुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here