भावांतर योजना में 20 से होगी खरीदी, 56,523 किसानों ने कराया पंजीयन

0
94

धार | Oct 09, 2018

कृषि उपज मंडी में भावांतर योजना में सोयाबीन की खरीदी 20 अक्टूबर से शुरू होगी। जिले में 2.73 लाख हेक्टेयर में सोयाबीन लगाई गई थी। जिसकी कटाई अंतिम चरण में होने के साथ ही मंडी में उपज की आवक शुरू हो गई है। भावांतर में उपज बेचने के लिए जिलेभर के 56 हजार 523 किसानों ने पंजीयन कराया है। 75 प्रतिशत कटाई होकर अब सिर्फ 90 दिन से अधिक समय वाली फसल ही शेष रह गई है।

20 अक्टूबर से 19 जनवरी 19 तक होगी खरीदी

सोयाबीन की कटाई के बाद किसानों ने मंडी में उपज बेचना शुरू कर दिया है। किसानों को इस साल भी भावांतर योजना का लाभ दिया जाएगा। इस बार भावांतर में सोयाबीन 3399 और मक्का के लिए 1700 रु. की राशि तय की गई है। शासन 20 अक्टूबर से 19 जनवरी 2019 तक उपज की खरीदी करेगी। जो किसान इस अवधी में उपज बेचेंगे उन्हें भावांतर का लाभ मिलेगा। सहायक आपूर्ति अधिकारी आनंद गोले ने बताया पंजीयन की अंतिम तारीख शासन ने पहले 20 सितंबर तय की थी। कई किसानों के पंजीयन नहीं होने पर इसे बढ़ाकर 29 किया गया। इसके बाद शेष रहे किसानों का पंजीयन 5 अक्टूबर तक किया। अब तक कुल 56523 किसानों ने पंजीयन कराया है। वहीं कृषि उपसंचालक आरएल जामरे ने बताया पिछले कुछ वर्षों से सोयाबीन में कई तरह की बीमारियां लग रही है। किसानों को नुकसान उठाना पड़ रहा था। कृषि विभाग ने किसानों को सोयाबीन का रकबा कम कर मक्का लगाने के लिए प्रेरित किया। जिले में इस बार सोयाबीन का रकबा कम हुआ है। पिछले साल 3.50 लाख हेक्टेयर था। इस बार 2.73 लाख हेक्टेयर है। मक्का का रकबा पिछले साल की अपेक्षा 73 हजार हेक्टेयर में बढ़ा है।

अमावस्या को बंद रहती है मंडी, इस बार खुली रखी

तुलावटी हम्माल संघ के सचिव नारायण राठौर ने बताया प्रतिवर्ष अमावस्या को मंडी बंद रखी जाती है। कलेक्टर दीपकसिंह ने आदेश भी जारी किए थे कि अमावस्या के दिन मंडी बंद रखी जाए इसके बावजूद मंडी चालू रही। हम्मालों ने किसानों के माल की तुलाई की।

धार. मंडी में सोयाबीन की आवक शुरू हो चुकी है।

इस भाव से खरीदेंगे उपज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here