भावांतर घोटाला: कैशबुक गायब, अकाउंट प्रभारी फरार

0
80

शिवपुरी Oct 10, 2018

भावांतर योजना में धांधली के बाद कृषि उपज मंडी शिवपुरी में महत्वपूर्ण दस्तावेज में शामिल कैशबुक ही है। वर्तमान मंडी सचिव का कहना है कि उन्हें कैशबुक नहीं मिली। उन्होंने प्रशासनिक जांच दल या फिर मंडी बोर्ड से आए वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा कैश बुक साथ ले जाने की संभावना जताई। लेकिन मंडी बोर्ड अधिकारी और प्रशासनिक जांच दल के अधिकारियों ने कैशबुक साथ ले जाने वाली बात से इनकार कर दिया है। वहीं एफआईआर दर्ज होने के बाद मंडी में अकाउंट शाखा प्रभारी रहे आरोपी श्रीमान जायसवाल फरार है। उनका मोबाइल नंबर भी बंद जा रहा है। मंडी की उक्त कैशबुक उन्हीं के पास होने की बात सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि मंडी में सामान खरीदी सहित अन्य सुविधाओं पर लाखों रुपए खर्च हुआ है। लेकिन मंडी में सामान बहुत ही कम मात्रा में देखा जा रहा है। जिससे सामान खरीदी में भी गड़बड़ी की बात सामने आ रही है। कैशबुक सामने आने पर ही सारा लेखा-जोखा खुलकर सामने आ सकेगा। यदि वास्तविकता में लाखाें रुपए की गड़बड़ी हुई है तो संबंधित बाबू पर अलग से कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी। बता दें कि हाल ही में भावांतर योजना के नाम पर 9.31 करोड़ का भुगतान जारी होने से ठीक पहल प्रशासन ने धांधली पकड़ी है। जिससे शिवपुरी मंडी पूरे प्रदेश में चर्चाओं में बनी हुई है। मंडी सचिव अनिरुद्ध सिंह तोमर का कहना है कि मंडी की व्यवस्थाएं सुधारेंगे। जो भी गड़बड़ी करेगा, उस पर कार्रवाई करेंगे। संयुक्त संचालक चक्रवर्ती का कहना है कि कैशबुक मिलने पर जांच कराएंगे।

कैश बुक का पता लगवाएंगे

जो अकाउंट देख रहा था उससे कैशबुक मांग रहे हैं

कैशबुक रिकार्ड में नहीं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here