बेसली पर बनेंगे 4 स्टॉप डैम, किसानों को मिलेगी सिंचाई की सुविधा

0
105

भिंड Nov 30, 2019

बेसली नदी पर शासन द्वारा चार स्थानों पर स्टॉप डैम बनाने का कार्य शुरू किया गया है। जिससे आने वाले समय में किसानों को बेसली नदी से सिंचाई की सुविधा प्राप्त हो सकती है। बता दें कि ग्वालियर से 25 किमी दूर उटीला के जंगलों में भदावना के पहाड़ से बेसली नदी का उद्गम रहा है। इस नदी में टुड़ीला के पास मुरार नदी का संगम होता है। जो टीकरी से कनाथर होते हुए कछवाहा क्षेत्र के खेरौली से होकर निकली सिंध नदी में मिलती है। वर्षों पूर्व बेसली नदी में बारहमासी पानी का प्रवाह होता था, लेकिन मानवीय क्रिया कलापों के चलते यह केवल बरसाती नदी बनकर सिमट गई है। लेकिन ग्वालियर क्षेत्र में नदी की साफ-सफाई, खुदाई तथा जीर्णोद्धार के लिए 264 करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैं। जिससे जिले के लोगों को भी लाभ मिल सकता है।

आलोरी में बना स्टॉप डैम

बेसली नदी पर गुदावली, बरासों और गोहदी गेट के पास स्टॉप डैम बनाए जा रहे हैं। जिसमें आलोरी में पुल के पास एक डैम बनकर तैयार हो चुका है। जबकि अन्य तीनों का कार्य संचालित है। बारिश में नदी का पानी व्यर्थ न बहकर इन डैम में संग्रहित किया जाएगा। जिससे साल भर नदी में पानी का स्टॉक किया जाकर किसानों को सिंचाई की सुविधा प्राप्त हो सकती है। हालांकि प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा इस मामले में किसी प्रकार का स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है। लेकिन क्षेत्र वासियों को उम्मीद है कि जिले में भी नदी के जीर्णोद्धार की योजनाएं स्वीकृत की जाती हैं तो भविष्य में पानी का संकट टल सकता है। गोहद क्षेत्र की जीवनदायनी कही जाने वाली इस नदी में साफ सफाई के लिए समाजसेवी संगठन भी हमेशा से प्रयासरत रहे हैं। विधायक रणवीर जाटव ने बताया कि गोहदी गेट के पास पूर्व से अभी तक कई लोगों की डूबने से मौत हुई है। इसलिए इस स्थान पर स्टॉप डैम बनाकर हादसों को हमेशा के लिए दूर किया जाएगा।

गोहद की बेसली नदी, जिस पर बने स्टॉप डैम।

बेसली के डैम में दस फीट तक जमी है सिल्ट

बेसली नदी पर गोहद नगर में बने डैम पर दस से बारह फीट की गहराई में सिल्ट जमा है। जिसकी सफाई का कार्य प्रशासन ने नहीं कराया है। मालूम हो कि डैम में 521 फीट की क्षमता रहती है। पानी का अधिक स्तर होने के कारण कई बार किसानों की फसल डूब में आ जाती थी। जिसके बाद कुछ किसानों ने कोर्ट में मामला लगाया। कोर्ट ने किसानों को नुकसान की भरपाई के लिए आदेश जारी कर डैम के लेवल पर ध्यान देने के लिए कहा। इसके बाद बेसली डैम में पानी का लेवल 508 तक रखा जाने लगा है। सिल्ट हटने से पानी का लेवल बढ़ने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here