तेंदूखेड़ा: नान की टीम ने खरीदी केंद्रों मेंं रखी 95 प्रतिशत से ज्यादा धान को किया रिजेक्ट

0
104

दमोह Dec 26, 2019

शासन के धान खरीदी केंद्रों में क्षेत्रिय किसानों को अपनी धान की तुलाई करवाना मुसीबत बन गया है। कई दिनों से किसान खरीदी केंद्रों पर धान रखे हुए हैं, लेकिन उनकी धान की तुलाई नहीं हो पा रही है। पहले तो खरीदी केंद्र के कर्मचारी व अधिकारी कहते रहे कि अभी जो धान केंद्र पर रखी है वो जब तक नहीं उठेगी तब तक धान की खरीदी नहीं होगी। साथ ही जब नान के अधिकारी धान की क्वालिटी की जांच कर लेंगे इसके बाद ही खरीदी होगी।

बुधवार को दमोह से नान की टीम ने इमलिया, झलोन, सर्रा, समनापुर, तारादेही, तेंदूखेड़ा, नरगुवां, सांगा, तेजगढ़ के केंद्रों में जाकर वहां रखी 95 प्रतिशत से अधिक किसानों की धान को रिजेक्ट कर दिया है। जिससे किसानों के सामने बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई है। अब अपनी धान किसान कहां लेकर जाएंगे। मजबूरन किसान को ओने-पोने दामों में व्यापारियों को ही बेचनी पड़ेगी। किसानों का कहना है कि सरकार जानबूझकर धान की खरीदी नहीं किए जाने का आरोप लगा रही है। समनापुर में किसानों के धान ढेर की टीम ने जांच की तो एक या दो धान के ढेर सही बताए, बाकी रखे लगभग 50 से अधिक किसानों के धान के ढेर रिजेक्ट कर दिए। किसानों ने कहा कि एसडीएम को ज्ञापन देकर सड़क पर धरना प्रदर्शन करेंगे।

हरीकेस चौकसे, बसंतरानी, अनुरूद्ध, रामाधार पटेल आदि किसानों ने कहा कि लगभग 10 दिन से खरीदी केंद्र में धान रखकर केंद्र पर ही हम किसान पड़े हुए हैं, लेकिन खरीदी नहीं की जा रही है। बुधवार को टीम आई थी हमारे धान के ढेर की जांच कर साफ धान को भी खरीदने से मना कर रहे हैं, 50 ढेर में से सिर्फ दो ढेर पास किए हैं। जिसे भी समिति के प्रबंधक खरीदने से मना कर रहे हैं। टीम धान के सेंपल लेकर गए हैं और कह गए है कि कलेक्टर को धान के सेंपल दिखाएगें। किसानों ने कहा कि यदि हमारी धान की खरीदी नहीं होगी तो किसान बर्बाद हो जाएंगे, अपना कर्ज भी चुका नही पाएगें। सभी किसान गुरूवार को एसडीएम को ज्ञापन देकर किसानों की पूरी धान को खरीदने की मांग करेंगे। यदि हम किसानों की धान की खरीदी नहीं होगी तो किसान सड़क पर धरना व चक्काजाम करेंगे।

तेंदूखेड़ा। समनापुर खरीदी केंद्र के बाहर रखी धान।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here