यूरिया के लिए मारामारी शुरू, 7 हजार मैट्रिक टन आई खाद, सीजन में 45 हजार मैट्रिक टन की है डिमांड

0
109
देवास Oct 28, 2019

औसत से अधिक बारिश होने से रबी सीजन में किसान सबसे ज्यादा बोवनी गेहूं फसल की करेंगे। इस फसल में यूरिया खाद की जरूरत होती है, जिसकी मारामारी अभी से शुरू हो चुकी है, जबकि खाद पूरे सीजन में समय-समय पर फसल में डालना पड़ा है। जिला प्रशासन ने अच्छी बारिश होने के बाद भी जिले में खाद की डिमांड के अनुसार पूर्व में रैक नहीं लगवाए, जिससे किसानों को पर्याप्त खाद अभी से उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। इस सीजन में अभी तक दो रैक में करीब 7 हजार मैट्रिक टन यूरिया खाद जिले की सोसायटियों के लिए आया है। इसमें से प्रायवेट दुकानाें के लिए भी खाद का स्टॉक आया है। रैक लगने के तत्काल बाद ही खाद सोसायटियों व दुकानों पर पहुंचने के बाद बिक रहा है। किसान बोवनी के समय भी यूरिया का उपयोग करता है।

किसान प्रहलादसिंह गुर्जर व माखनलाल पाटीदार के अनुसार इस बार बारिश अच्छी होने से किसान भाई चना के मुकाबले गेहूं की बोवनी ज्यादा कर रहे हैं। खेतों में बारिश का पानी सूखने के तत्काल बाद ही हकाई कर बोवनी की जा रही है। जिस साल अधिक बारिश होती है, उस साल रबी सीजन में बहुत ज्यादा शीतलहर और पाला पड़ता है, जिसमें चना फसल जल जाती है। गेहूं फसल में भी नुकसान होता है, लेकिन चने के मुकाबले बहुत कम। इसलिए किसान चना फसल बोवनी से परहेज कर रहे हैं। वैसे भी इस साल रबी सीजन बोवनी एक माह लेट हो चुकी है, अगर इस समय चना बोवनी करेंगे तो फल-फूल आने तक पाला पड़ने से काफी नुकसान हो सकता है। जलाशयों में भरपूर पानी होने से किसान भाई पाला पड़ते समय अपने-अपने गेहूं के खेतों में पानी छोड़ सकते हैं, जिससे पाले का असर कम होगा।

जिले में खाद की स्थिति एक नजर में

उप संचालक कृषि नीलमसिंह चौहान ने बताया, जिले में यूरिया खाद के 2 रैक लगे हैं, जिसमें करीब 7 हजार मैट्रिक टन खाद आकर सोसायटियों और दुकानों के माध्यम से किसानों तक पहुंच गया है। समय-समय पर रैक आते रहेंगे, जिससे किसानों को जरूरत अनुसार खाद मिल सके। शासन ने जिले के लिए 35 हजार मैट्रिक टन का कोटा तय किया था, लेकिन हमने 45 हजार मैट्रिक टन यूरिया की डिमांड की है। इस बार बारिश अच्छी होने से यूरिया की मांग अधिक है। किसानों को खाद की किल्लत नहीं आने दी जाएगी, समय-सयम पर रेक लगने पर खाद उपलब्ध हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here