केंद्रों पर राेज लग रहीं कतारें, कृषि विभाग का कहना-भरपूर है यूरिया

0
90

गुना Dec 05, 2019

यूरिया का संकट गहराया हुआ है, किसानों की कतार खत्म नहीं हो रहीं। इसी बीच कृषि विभाग ने इसी कोई कमी न होने का दावा किया है। किसानों से अपील की गई है कि वह चिंता न करें, पर्याप्त मात्रा में यूरिया मौजूद है। लेकिन इसका बिना जरूरत भंडारण न करें, जब इसकी जरूरत महसूस हो, तभी लें। ताकि जिन्हें अभी यूरिया चाहिए, उन्हें मिल सके। उप संचालक किसान कल्‍याण तथा कृषि विकास अशोक कुमार उपाध्‍याय ने बताया कि जिले में यूरिया की किसानों की मांग अनुसार आपूर्ति निरंतर की जा रही है। रबी 2019-20 के लिए 38000 मीट्रिक टन यूरिया का लक्ष्‍य निर्धारित किया है। जबकि सहकारिता से 12618 एवं निजी क्षेत्र से 9893 यानी कुल 22511 मीट्रिक टन यूरिया का किसानों को वितरण किया गया है। मांग के अनुसार पूर्ति निरंतर की जाती रहेगी।

यह मौजूद है यूरिया:- कृषि विभाग के अनुसार डबल लॉक केन्‍द्रों पर 1205 मीट्रिक टन यूरिया वितरण के लिए अभी शेष है। कृषि विभाग का कहना है कि किसान अपने चक्र के हिसाब सेे ही यूरिया लें।

मंडी में कतार में लगे किसान : गल्ला मंडी स्थित केंद्र पर सुबह से ही किसान यूरिया के लिए लाइन में लगे। वहीं मधुसूदनगढ़ में इसका वितरण न हो सका। हालांकि किसानों को पर्ची दी गई है।

अधिक कीमत में बेचने वाले की करें शिकायत

विभाग ने कहा है कि यूरिया वितरण में कोई रुकावट न हो, लोगों को परेशानी न हो, इसके लिए सुरक्षा से लेकर कई इंतजाम किए गए हैं। केन्‍द्रों पर विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है। यदि कोई विक्रेता अधिक कीमत पर यूरिया विक्रय करता है, तो विकासखंड के संबंधित कृषि विकास अधिकारी को सूचना दें। उस पर कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here