सोयाबीन फ्लैट रेट पर खरीदेंगे लेकिन उड़द व मूंग के लिए करना होगा मैसेज का इंतजार

0
273

जावरा Oct 20, 2018

भावांतर फ्लैट रेट पर सोयाबीन व मक्का तथा समर्थन मूल्य पर उड़द व मूंग की खरीदी 20 अक्टूबर से शुरू करना है लेकिन जिन किसानों ने पंजीयन करवाया था, उनके रकबे का सत्यापन नहीं हो पाया। इस कारण किसानों के पास समर्थन खरीदी के मैसेज नहीं पहुंचे। सोयाबीन की खरीदी केवल पंजीयन के आधार पर शनिवार से शुरू हो जाएगी लेकिन समर्थन मूल्य पर उड़द व मूंग बेचने के लिए मैसेज जरूरी है। अभी किसानों को मैसेज नहीं मिले हैं। शनिवार से समर्थन खरीदी शुरू होने की उम्मीद नहीं है। किसानों को उपज बेचने के लिए भोपाल से मैसेज आने का इंतजार करना पड़ेगा।

सोयाबीन व मक्का बेचने के लिए पंजीकृत किसानों को पंजीयन रसीद के साथ ही समग्र आईडी, आधार कार्ड, बैंक पासबुक की फोटो कॉपी लेकर मंडी पहुंचना होगा। मंडी के प्रवेश गेट पर दस्तावेज दिखाने पर उन्हें यूनिक आईडी नंबर मिलेगा। यह नंबर ही अनुबंध, तौल व भुगतान पत्रक में लिखे जाएंगे और फिर सारे दस्तावेज मंडी में जमा होंगे। इस आधार पर किसान जितनी मात्रा में सोयाबीन या मक्का बेचेंगे, उन्हें उस आधार पर प्रति क्विंटल के हिसाब से फ्लैट रेट दिया जाएगा। फ्लैट रेट से आशय बोनस राशि से हैं। सोयाबीन के लिए सरकार ने 500 रुपए बोनस देने की घोषणा की थी, हालांकि इसके आदेश अभी मंडियों में नहीं पहुंचे हैं और ना कृषि विभाग के पास है। अफसर कुछ भी बोलने से बच रहे हैं लेकिन बताया जा रहा है कि यही बोनस फ्लैट रेट के रूप में प्रति क्विंटल के हिसाब से किसानों को दिया जाएगा। मक्का का फ्लैट रेट अभी तय नहीं है। फ्लैट रेट के बारे में पूछने पर मंडी सचिव एम.एस. मुनिया ने कहा कृषि विभाग जानकारी दे पाएगा। कृषि एसडीओ एन.के. छारी ने बताया अभी लिखित आदेश नहीं है लेकिन आदेश में जितनी राशि तय की जाएगी, उस अनुसार भुगतान करेंगे।

उड़द व मूंग की खरीदी मार्केटिंग सोसायटी करेगी, लेकिन आज मुश्किल

उड़द व मूंग समर्थन मूल्य पर सरकार सीधे खरीदेगी। उड़द के लिए 5600 व मूंग 6975 रुपए मूल्य निर्धारित है। खरीदी के लिए जावरा में मार्केटिंग सोसायटी तथा पिपलौदा में वहां की सेवा सहकारी संस्था को एजेंसी बनाया गया है। शनिवार से खरीदी शुरू होना है लेकिन अभी तक किसानों के पास मैसेज नहीं पहुंचे। इसलिए शनिवार से शुरूआत होना मुश्किल है। मार्केटिंग सोसायटी प्रबंधक योगेंद्र कोठारी ने बताया हमने खरीदी शुरू करने के लिए तैयारी पूरी कर ली है लेकिन अभी किसानों के पास मैसेज नहीं आए। इसलिए इंतजार करना होगा। भोपाल से मैसेज डाले जाएंगे। उस अनुसार खरीदी की जाएगी। सत्यापन प्रक्रिया पूरी होने के बाद मैसेज आएंगे। सोमवार तक स्थिति स्पष्ट हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here