सरसों में तेल का प्रतिशत बढ़ाने 20 हजार से अधिक किसान खेतों में कर रहे सल्फर की पूर्ति

0
178

मुरैना Nov 09, 2018

सरसों में तेल का प्रतिशत बढ़ाने के लिए किसान बोवनी से पहले खेतों में सल्फर तत्व की कमी पूरी कर रहे हैं। सरसों की लगातार पैदावार लेने के कारण जमीन में 50 से 55 फीसदी सल्फर तत्व कम हो गया है। यह तथ्य मृदा परीक्षण रिपोर्ट में उजागर हुआ है। खेतों की मिट्टी के 7500 नमूनों के टेस्ट के बाद तथ्य सामना आया कि जिले की कृषि भूमि में 50 से 55 फीसदी सल्फर तत्व की कमी हो गई है। सल्फर की कमी को पूरा नहीं किया गया तो सरसों के दाने में 15 से 20 प्रतिशत तेल कम प्राप्त होगा। इस रिपोर्ट से सक्रिय हुए किसानों ने सरसों की बोवनी से पहले खेतों में सल्फर तत्व की पूर्ति शुरू कर दी है।

उल्लेखनीय है कि मुरैना जिले के किसान बीते 20 बरसों से लगातार सरसों की खेतों को बढ़ावा दे रहे हैं सरसों के बाद किसान दलहनी फसल नहीं लेते इसलिए खेतों में सल्फर तत्व की कमी बढ़ती जा रही है। जिले के जौरा, कैलारस व पहाडग़ढ़ ब्लाक के गांवों में इसका असर सरसों के दाने में तेल प्रतिशत पर पड़ रहा है।

अब नहीं रुकेगी पौधों की बढ़वार

कृषि भूमि में 70 से 72 फीसदी जिंक तत्व की कमी के कारण गेहूं, बाजरा व सरसों की फसल की बढ़वार प्रभावित हो रही थी। लेकिन मृदा परीक्षण रिपोर्ट में जब यह तथ्य प्रकाश में आया तो किसानों को इससे अवगत कराया गया। रबी फसल की बोवनी के दौरान किसानों ने जिंक सल्फेट खाद के डोज से जिंक तत्व की पूर्ति शुरू कर दी है ताकि गेहूं व सरसों के पौधों की बढ़वार प्रभावित नहीं हो। इसके लिए एक हेक्टेयर जमीन में 25 किलोग्राम जिंक सल्फेट खाद के डोज की सलाह किसानों को सोइल हेल्थ कार्ड में दी गई है।

जितना तेल, सरसों का वैसा भाव

तीन प्रकार की खाद का उपयोग

आंचलिक कृषि अनुसंधान केन्द्र के मृदा वैज्ञानिक ने स्वाइल हेल्थ टेस्ट कार्ड में किसानों को सलाह दी है कि वह जमीन में सल्फर तत्व की कमी पूरी करने के लिए बोवनी से पहले जिप्सम सल्फेट, वेन्टो नाइट सल्फर या सिंगल सुपर फास्फेट खाद डालें। एक हेक्टेयर खाद में 40 किलोग्राम सल्फर उर्वरक का डोज दिया जाना चाहिए।

सरसों की बोवनी का क्षेत्र बढ़ा

बारिश कम होने के कारण किसानों ने रबी सीजन की फसलों की बोवनी में सरसों का क्षेत्र बढ़ा दिया है। बीते वर्ष 1,10,000 हेक्टेयर में सरसों की बोवनी की गई थी वहीं इस वर्ष सरसों की बोवनी का लक्ष्य 1,25,000 हेक्टेयर तय किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here