समर्थन मूल्य पर उपज बेचने से किसानों ने बनाई दूरी, 25 दिन में 3 फीसदी खरीदी हुई

0
103

नीमच Nov 17, 2018

सरकार द्वारा पहली बार खरीफ फसल की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जा रही है। जिले में 24 हजार से अधिक किसानों ने पंजीयन करवाया। 20 अक्टूबर से खरीदी शुरू होने के बाद अब तक सिर्फ 3 फीसदी मूंगफली व उड़द की खरीदी हुई है।

किसानों की आय दुगनी करने व उपज का निर्धारित मूल्य देने के लिए सरकार ने खरीफ फसल मंडी व सोसायटी के माध्यम से समर्थन मूल्य पर खरीदने का निर्णय लिया गया। खाद्य विभाग द्वारा 24 हजार 461 किसानों का पंजीयन व सत्यापन किया गया। इसके बाद जिले के 21 केंद्रों पर खरीदी शुरू होते ही सत्यापित किसानों को एसएमएस कर उपज बेचने के लिए बुलाया जा रहा है। लेकिन किसानों की रूचि कम है। जिला विपणन संघ के माध्यम से खरीदी की व्यवस्था की है। इसके बावजूद 25 दिन में 373 किसानों से 2162 क्विंटल उड़द, 259 ने 3248 क्विंटल मूंगफली केंद्रों पर बेची हैं। इस तरह अब तक 632 किसानों ने 5 हजार 410 क्विंटल उपज खरीदी गई है। जबकि 1.20 लाख क्विंटल उपज खरीदी का लक्ष्य तय हुआ है। मूंगफली का समर्थन मूल्य 4890 व उड़द का 5600 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित है। इसके मुकाबले में किसानों को मंडी में सीधी नीलामी में भाव अधिक तथा तत्काल भुगतान हो रहा है। ऐसे में समर्थन मूल्य में उपज बेचने से किसान दूरी बना रहे हैं।

समर्थन मूल्य खरीदी केंद्रों के बजाए मंडी में ज्यादा पहुंच रही उपज।

इन केंद्रों पर खाली बैठे हंै कर्मचारी

सरवानिया महाराज, लासूर, कुकड़ेश्वर, महागढ़, खजूरी चचौर, बैसला, शहनातलाई, रतनगढ़, जाट व झांतला बनाए केंद्र पर उपज की एक बोरी भी नहीं खरीदी गई। यहां पर कर्मचारी रोज किसानों को सूचना भेज रहे हैं। फिर भी किसान इन केंद्रों पर उपज बेचने नहीं आ रहे हैं।

इन केंद्रों पर लेकर आ रहे उपज

नीमच सिटी, बघाना, जीरन, बावल, मनासा सेवा सहकारी, कंजार्डा, जवासा, सिंगोली, दड़ौली, अठाना पर ही दाेनों उपज की अच्छी खरीदी हो रही है। इन सोसायटी के पास पंजीकृत किसान ही समय पर उपज बेचने पहुंच रहे हैं।

मंडी और वेयर हाउस में विपणन संघ ने बनाए केंद्र

समर्थन मूल्य उपज सीधे मंडी व वेयरहाउस पर कर्मचारियों द्वारा खरीदी जा रही है। जिले में सिंगोली, जावद, रामपुरा, जीरन में मंडी स्तर पर, डूंगलावदा, शुभम वेयर हाउस, विशंभर वेयर हाउस, चौधरी वेयर हाउस, बालाजी वेयर हाउस, श्रीराम वेयर हाउस मनासा में किसानों को उपज लेकर पहुंचना पड़ रहा है।

त्योहार व बोवनी के बाद अब बढ़ने लगेगी भीड़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here