तेज हवा और बारिश से धान की फसल आड़ी होने से किसानों को हो रहा नुकसान, नहीं पहुंचा सर्वे दल

0
160

बाड़ी Nov 01, 2019

नगर और आस-पास क्षेत्र में लगातार कुछ दिनों से तेज हवा पानी रुक-रुक कर बारिश होने से धान की फसलों को काफी नुकसान हो रहा है क्योंकि इस समय धान की फसलें पककर कटाई के लिए तैयार होती जा रही हैं ऐसे में हवा पानी के कारण धान की फसलें जमीन में फैल गई है, जिससे धान की होने वाली पैदावार और चावल की चमक भी फीकी पड़ने की आशंका जताई जा रही है।

अगर मौसम ठीक नहीं रहता है तो किसानों को बड़े पैमाने पर नुकसान उठाना पड़ेगा। दरअसल चावल की क्वालिटी व भाव भी किसानों को कम मिलेंगे। इतना ही नहीं इस बार रवि फसल की बोवनी भी एक माह तक लेट हो जाएगी क्योंकि इस बार अक्टूबर के अंत तक पानी गिर रहा है, बारिश के कारण खेतों में फिर से पानी भर गया है ऐसी स्थिति में किसानों को धूप निकलने और खेतों के सूखने तक इंतजार करना पड़ेगा। दीपावली के दिन से क्षेत्र में कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश का दौर लगातार जारी चल रहा है इस बारिश के कारण धान की फसल को खेतों में आड़ी हो गई हैं। जिन किसानों ने धान को कटवा कर खेतों में छोड़ा था वह धान की फसल भी बारिश के पानी से खराब हो गई है, किसानों की मानें तो कटी फसल के सड़ने की स्थिति ज्यादा रहती है। किसान वीरेंद्र कुमार शर्मा, सूरज कुशवाह, मनीष ने बताया कि धान की फसलें पक कर तैयार हो चुकी हैं लेकिन पानी और लगातार मौसम खराब होने के कारण कटाई शुरू कराना संभव नहीं है अच्छे मौसम में ही धान की कटाई की जाएगी पानी में धान खराब हो रही है जिन लोगों की धान कटी है उनको ज्यादा नुकसान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here