गांवों की मैपिंग नहीं, 7 दिन बाद भी 9738 किसानों में से एक भी नहीं बेच पाया उड़द-मूंग

0
142

रायसेन Oct 27, 2018

किसानों को लेकर शासन-प्रशासन भले ही संवेदनशील होने की बात करे, लेकिन खरीदी केंद्रोें के तहत आने वाले गांवों की मैपिंग नहीं हो पाई है। इसके चलते जिले भर में 9 हजार 738 किसानों में से एक भी किसान सात दिन बाद भी अपनी मूंग,उड़द और मूंगफली में कोई भी उपज नहीं बेच पाया है।

किसानों को उपज के अच्छे दाम दिलाने के लिए सरकारी स्तर पर मूंग,उड़द और मूंगफली की खरीदी समर्थन मूल्य पर की जाना थी, जिससे किसानों को उनकी उपज के अच्छे दाम मिल सकें, लेकिन जिले में तय समय के सात दिन बीत जाने के बाद भी खरीदी शुरू नहीं हो पाई है। हालत यह है कि जिस मूंग का सरकारी रेट 6 हजार 975 रुपए प्रति क्विंटल तय किया गया है। वही मूंग किसानों से मंडियों में 22 सौ रुपए प्रति क्विंटल से लेकर 3 हजार रुपए प्रति क्विंटल तक खरीदी जा रही है। इससे किसानों को प्रति क्विंटल के हिसाब 4 हजार रुपए तक का घाटा उठाना पड़ रहा है। वहीं बड़ी संख्या में ऐसे किसान भी हैं जो अपनी जरूरतों के बावजूद सरकारी खरीदी शुुरू होने का इंतजार कर रहे हैं। परसौरा गांव के किसान भाव सिंह का कहना है कि सरकारी खरीदी शुरू नहीं हो पाने के कारण वे अपनी मूंग और उड़द नहीं बेच पा रहे हैं।

केंद्र ही नहीं बनाए गए : जिले में मूंग, उड़द,मूंगफली, तिल और रामतिल की खरीदी सरकारी केंद्रों पर 20 अक्टूबर से की जाना थी, लेकिन 7 दिन तक रायसेन के कृषि उपज मंडी में केंद्र ही नहीं बन पाया है। केंद्र बनाने जिम्मेदार अधिकारियों ने शुक्रवार से शुुरुआत की है।

इसलिए रुके हैं किसान : सरकारी केंद्रों पर पहले से पंजीकृत किसानों से 6975 रुपए प्रति क्विंटल के भाव से मूंग और 5600 रुपए प्रति क्विंटल के भाव से उड़द की खरीदी की जाना है, जबकि मंडियों में मूंग और उड़द के रेट बहुत कम चल रहे हैं, जो किसान मंडियों में अपनी मूंग और उड़द बेच रहे हैं, उन्हें काफी घाटा उठाना पड़ रहा है।

जिले की मंडियों और उप मंडियों में बनाए 11 खरीदी केंद्रों पर 20 अक्टूबर से शुरू होना थी पंजीकृत किसानों की सरकारी खरीदी

30 हजार 139 किसानों ने जिले में कराया है पंजीयन

जिले में 30 हजार 139 किसानों ने भावांतर और समर्थन मूल्य पर उपज बेचने के लिए अपना पंजीयन कराया है। इनमें धान की उपज बेचने के लिए 7295 किसान, सोयाबीन के लिए 13 हजार 858, मूंग के लिए 913 और उड़द के लिए 8806 किसानों ने उपज बेचने के लिए पंजीयन कराया है।

मैपिंग नहीं हो पाई


किस तहसील में कितना पंजीयन

तहसील मूंग उड़द

रायसेन 15 786

गैरतगंज 81 3254

बेगमगंज 28 3024

सिलवानी 332 1150

उदयपुरा 160 285

बरेेली 191 103

बाड़ी 88 34

सुल्तानपुर 8 131

गौहरगंज 10 39

कुल 913 8806

10 समितियां करेंगी सरकारी खरीदी 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here