न कर्ज माफ हुआ और न खाद व बिजली मिल पा रही, किसान आत्महत्या करने मजबूर: भूपेंद्र सिंह

0
76

सागर Dec 03, 2019

प्रदेश भाजपा के अाह्वान पर सागर में पूर्व गृहमंत्री व खुरई विधायक भूपेंद्र सिंह ने कमलनाथ सरकार के अब तक कार्यकाल अाैर किसानाें की स्थिति काे लेकर मीडिया से बात की। उन्हाेंने कहा कि प्रदेश में कमलनाथ की सरकार के 11 माह बाद भी किसानों का पूरा कर्ज़ माफ नहीं हुआ और न ही मुख्यमंत्री ही बदले गए। 25 प्रतिशत किसानों का भी कर्ज माफ नहीं हुअा। अब स्थिति यह है कि किसानाें काे न खाद मिल पा रही है अाैर न खेताें में सिंचाई के लिए बिजली मिल रही। किसान भरोसे में फसल बीमा सहित अन्य सुविधाओं से भी वंचित रह गया। प्रदेश के किसान अात्महत्या करने के लिए मजबूर हैं।

सिंह ने कहा कि यूपीए सरकार के दौर में देश भर में यूरिया की कालाबाजारी जोरों पर थी। केन्द्र में नरेन्द्र मोदी की सरकार आने के बाद देश में यूरिया की उपलब्धता किसानों तक करने के लिये सार्थक प्रयास किए गए। मध्यप्रदेश मे भाजपा की सरकार रहते हुए किसानों को यूरिया की उपलब्धता समय से पहले सुनिश्चित करा ली जाती थी। अब कांग्रेस की सरकार में प्रदेश में फिर वही दौर लौटकर आया है। यूरिया मांगने वाले किसानों की लंबी लाइनें दिखाई देने लगी हैं। किसान परेशान है। पूर्व गृहमंत्री ने अाराेप लगाया कि लगातार तबादलों में तल्लीन, रेत और शराब के कारोबार में व्यस्त कांग्रेस की सरकार किसानों के प्रति संवेदनहीन है।प्रदेश के 52 में से 32 जिलों में अतिवर्षा से आई बाढ़ में हजारों घर बह गए थे। घरों की तबाही ऐसी हुई की लाेगाें काे िसर छुपाने की जगह नहीं बची। मुख्यमंत्री, मंत्री प्रभावित गांवों में समय पर नहीं पहु्ंचे। सरकार आपदा प्रबंधन में पूर्ण रूप से नाकाम रही। मध्यप्रदेश के किसानों के प्रति अपना संवेदनशील रवैया रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी ने किसानों को राहत देने के लिये 1000 करोड़ की राशि प्रदेश सरकार को दी है। अब प्रदेश की कांग्रेस सरकार बताए की यह राशि कितने किसानों को वितरित की गई। क्या सरकार ने आपदा प्रबंधन का कराेड़ाें रुपए ट्रासंफर उद्योग के भत्तों व मंत्रियाें के बगंलों गाडी़ की चमक दमक में खर्च कर दिया।

खरीब की फसल विशेषकर धान की समर्थन मूल्य पर खरीदी करने का प्रंबधन आज दिनांक तक प्रदेश सरकार द्वारा नहीं किया गया हैं। दो-दो बार खरीदी करने की तारीखें बढ़ाई गई है। कांग्रेस ने वचन पत्र में कहा था कि किसानों को थ्री फेसकी बिजली प्रतिदिन 12 घंटे देंगे। जिसमें कम से कम 8 घंटे दिन का समय रहेगा। किसान बिजली अाने का इंतजार कर रहे हैं। भाजपा जिलाध्यक्ष प्रभुदयाल पटेल, पार्टी के वरिष्ठ नेता डॉ. सुखदेव मिश्र,लक्ष्मण सिंह, संताेष राेहित, प्रदीप राजाैरिया, राजेश सैनी, अनुराग प्यासी, नवीन भट्ट आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here