उड़द-मूंग की खरीदी सप्ताह में 5 दिन होगी, अब बोरे पर भी लिखा जाएगा किसान का नाम

0
477

सागर Oct 26, 2018

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द, तुअर, मूंगफली, तिल एवं रामतिल की खरीदी प्रक्रिया के संबंध में कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने सभी सहकारी समितियों, कृषक एवं विपणन सहकारी संस्थाओं को उपार्जन केंद्रों पर सभी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रखने को कहा है। इस बार किसानों से खरीदी सप्ताह में 5 दिन यानी सोमवार से शुक्रवार तक ही होगी। शेष दो दिनों में खरीदी का परिवहन-भंडारण आदि का काम होगा।

मूंग एवं उड़द की खरीदी 19 जनवरी तक चलेगी तो तुअर की खरीदी प्रक्रिया 1 मार्च से शुरु होकर 30 मई तक चलेगी। तुअर के उपार्जन केंद्र का निर्धारण अलग से होगा। मूंग, उड़द की खरीदी के लिए विपणन संघ को एजेंसी नियुक्त किया गया है। यह निर्देश भी दिए गए हैं कि खरीदी केंद्रों में संस्था द्वारा बोरों में केंद्र की स्लिप के साथ ही किसान को आवंटित नंबर की स्लिप भी लगाए जाए, जिससे पहचान हो सके कि कौन सा उत्पाद किस किसान का है। उपार्जन समिति के समिति प्रबंधक का यह दायित्व होगा की वह पंजीकृत किसानों द्वारा उपार्जन केंद्र लाई गई उपज को खरीदने से पहले ई-उपार्जन साफ्टवेयर अंतर्गत ऑनलाइन टोकन प्रत्येक किसान को जारी करेंगे। बिना ऑनलाइन टोकन जारी किए किसी भी स्थिति में उपार्जन न किया जाए। किसानों को को ऑनलाइन तौल पत्रक एवं पावती जारी करना, परिवहन अनुरोध प्रेषित करना एवं परिवहन चालान टीसी जारी करने का काम भी समिति प्रबंधक प्रमुखता से करेंगे। खरीदी केंद्र से ट्रक लोड करने के बाद खरीदी केंद्र प्रभारी द्वारा नजदीकी धर्मकांटे से प्रत्येक ट्रक का वजन कराया जाना भी अनिवार्य होगा। कलेक्टर ने निर्देश दिए हैं कि तौल एवं एफएक्यू संतुष्टि के बाद कम्प्यूटराइज्ड प्रिंटेड रसीद, जिसमें देय राशि का उल्लेख आदि हो, उपार्जन केंद्र द्वारा हस्ताक्षर कर किसान को दी जाए।

केंद्र पर चस्पा करें सप्ताह में कितने मैसेज भेजे, किसान को दें पावती

कलेक्टर सिंह ने बताया कि किसानों को भेजे जाने वाले साप्ताहिक एसएमएस की प्रति खरीदी केंद्र पर प्रति सप्ताह चस्पा करना अनिवार्य होगी। साथ ही सभी किसानों को मूंग एवं उड़द की खरीदी के बाद पावती भी अवश्य दी जाए। वास्तविक किसानों से मानक स्तर का ही मूंग एवं उड़द खरीदा जाए। यदि समिति द्वारा अमानक मूंग एवं उड़द की खरीदी कर भंडारण केंद्र पर भेजा जाता है तो संबंधित समिति प्रबंधक के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here