रैक लगने के बाद भी जब वेयर हाउस प्रभारी ने खाद बांटने से मना किया तो किसानों ने डेढ़ घंटे लगाया जाम

0
126

नसरुल्लागंज Dec 12, 2019

यूरिया खाद नहीं मिलने से किसान लगातार परेशान नजर आ रहे हैं। मंगलवार को जब रैक लगने के बाद भी जब लोग खाद लेने पहुंचे तो वेयर हाउस प्रभारी ने उस समय खाद बांटने से मना कर दिया। इस पर किसानों ने प्रशासनिक अधिकारियों सहित वेयर हाउस प्रभारी के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। साथ ही नसरुल्लागंज-रेहटी स्टेट हाईवे पर जाम लगा दिया। इस दौरान किसानों ने वेयरहाउस प्रभारी पर मनमानी करने का आरोप लगाया। इस बीच दोनों तरफ वाहनों की दो से तीन किमी तक लंबी कतारें लग गईं। करीब 1 घंटा 20 मिनट के बाद अधिकारियों की समझाईश पर चक्काजाम खत्म किया।

किसान इसलिए भी परेशान हैं कि यूरिया की कालाबाजारी हो रही है। उन्हें बाजार से महंगे दामों में यूरिया खरीदना पड़ रहा है। मंगलवार को जब लंबे इंतजार के बाद वेयर हाउस में रैक लगने के बाद किसान यूरिया लेने पहुंचे तो वेयर हाउस प्रभारी द्वारा खाद वितरण करने से मना कर दिया। तो किसानों ने बीच सड़क पर बैठकर वेयर हाउस प्रभारी महेंद्र मेवाड़ा के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। जब जाम की सूचना प्रशासनिक अधिकारियों के पास पहुंची तो उन्होंने मौके पर पहुंचकर किसानों को समझाने का प्रयास किया लेकिन वह प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इस दौरान तहसीलदार पीसी पांडे ने उग्र किसानों से उनके बीच पहुंचकर चर्चा की और उनकी समस्या को प्राथमिकता से हल करने की बात कही। उसके बाद कहीं जाकर किसान मानें और उन्होंने एक घंटा 20 मिनट बाद धरना खत्म किया।

किसान बोले… साहब हम तो परेशान हो गए, रात में सिंचाई करते हैं और दिन में खाद के लिए कतार में खड़े हो रहे

कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष ने बंटवाया खाद

कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष नईम नवाब ने एमपी एग्रो से किसानों को शासकीय दर पर भरपूर मात्रा में खाद का वितरण कराया गया एवं अग्रसेन ट्रेडर्स से भी शासकीय दर पर खाद का वितरण कराया गया। साथ ही जिले सोसायटियों में भी पर्याप्त मात्रा में खाद भेजा गया, जिससे किसानों को सुविधा मिल सके। 12 और 13 दिसंबर को भी पर्याप्त मात्रा में खाद प्रत्येक सोसायटी एवं अनुबंधित दुकानों पर शासकीय दर पर किसानों सुगमता के साथ पर्याप्त मात्रा में खाद का वितरण किया जाएगा। खाद वितरण के समय नईम नवाब के अलावा ओम सोनी, राजेंद्र नागर, आशीष गुप्ता, नवेद खान, राजेंद्र ठाकुर, विनोद नागर, रेहान नवाब, जावेद खान उपस्थित रहे।

यूरिया खाद को लेकर किसानों ने किया चक्काजाम।

1310 बोरी बंटा यूरिया

5 बोरी खाद के लिए किसान का पूरा परिवार लाइन में

गाइडलाइन में एक ऋण पुस्तिका पर 5 बोरी खाद दिए जाने का प्रावधान है। नारेबाजी करने के बाद किसानों को पांच बोरी यूरिया खाद मिला। एक किसान का पूरा परिवार यूरिया लेने के लिए लाइन में लगा हुआ था।

किसानों के चक्काजाम खत्म होने के बाद यहां से 1310 बोरी यूरिया खाद बांटा गया। इसके बाद एसडीएम ने भी संबंधित वेयर हाउस प्रभारी को बुलाकर खाद ना बांटने का कारण पूछा। इसी तरह इस पूरे मामले की शिकायत नगर के एक पार्षद ने प्रभारी मंत्री से की है।

इस तरह हो रही कालाबाजारी

किसानों का कहना था कि हमें सरकारी रेट पर यूरिया प्रति बोरी 267 रुपए में मिल रही है जबकि बाजार में यही बोरी 400 से 450 रुपए तक में मिल रही है। हालांकि सोमवार को लाड़कुई मेंं दो व्यापारियों के लाइसेंस निरस्त कर दिए गए थे। चक्काजाम खत्म होने के बाद नसरुल्लागंज में एक ऋण पुस्तिका पर पांच बोरी खाद मिलेगा।

60 हजार टन की जगह अभी तक मिला 43 हजार

जिलेभर में यूरिया खाद का लक्ष्य 60 हजार टन रखा गया। अभी तक 43 हजार टन यूरिया ही आया है। शेष यूरिया नहीं आने से दिक्कतें हो रही हैं। किसान परेशान हैं।

किसानों ने कहा- साहब यूरिया की कमी से गिरेगा उत्पादन

धरना प्रदर्शन में शामिल किसानों ने तहसीलदार पीसी पांडे से कहा कि हम बिजली विभाग की दोषपूर्ण बिजली की व्यवस्था से पहले ही जूझ रहे हैं। ऊपर से यूरिया खाद के संकट ने हमारी परेशानी को और अधिक बढ़ा दिया है। पहले सिंचाई के लिए रात भर जागकर हम खेतों में पानी दे रहे हैं। सुबह होते ही यूरिया लेने के लिए लाइन में लग जाते हैं। ऐसे में हमें सोने तक का समय नहीं मिल पा रहा है। अब हम यह सहन नहीं करेंगे। समय पर खाद यदि नहीं मिलता है तो उत्पादन गिरेगा। हम पहले ही खरीफ फसल की मार से टूट चुके हैं।

यह भी कहा… वेयर हाउस प्रभारी कर रहा मनमानी

यूरिया खाद संकट से जूझ रहे किसानों ने यह भी बताया कि इस समस्या को वेयर हाउस गोडाउन प्रभारी की कार्यशैली ने और अधिक बढ़ा दिया है। डबल लॉक में रैक लगने के बाद पर्याप्त मात्रा में यूरिया खाद वितरण के लिए मौजूद होने के बाद भी प्रभारी वितरण करने को तैयार नहीं थे। ऐसे में किसानों ने मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों से गोडाउन प्रभारी की शिकायत भी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here