किसान खेती नहीं, तकनीक सीखने कृषि विज्ञान केंद्र आए

0
212

आगर मालवा Jan 2, 2020

निर्माणाधीन कृषि विज्ञान केंद्र परिसर में फलदार पौधे लगाने के साथ ही नर्सरी बनाकर पौधे तैयार किए जाए तथा ऐसा प्रयास हो कि ज्यादा से ज्यादा किसान कृषि विज्ञान केंद्र पर आकर खेती की नई तकनीक सीखें।

यह बात गत दिवस वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक में संयुक्त संचालक डाॅ. आरकेएस तोमर ने स्थानीय अधिकारियों को दिए। तोमर ने बैठक में यह भी कहा कि कृषि विज्ञान केंद्र को उद्यानिकी फसलों एवं संतरे की अच्छी उपज लेने की दिशा में भी कार्य करना चाहिए। डाॅ. आरपीएस शक्तावत ने 6 माह में किए गए कार्यों की जानकारी दी तथा आने वाली रबी फसल के लिए बनाई गई कार्य योजना बताई। डाॅ. शक्तावत ने अधिकारियों को बताया कि अग्रिम पंक्ति प्रदर्शन में बीबीएफ विधि से सोयाबीन की बुआई करने से सामान्य बुआई करने वालों की अपेक्षा 18 प्रतिशत उत्पादन हुआ। सोयाबीन की जेएस 2029 किस्म ने जेएस 9560 से 43 प्रतिशत अधिक उत्पादन हुआ। संयुक्त संचालक डाॅ. तोमर ने कृषि विज्ञान केंद्र का भी निरीक्षण किया। इस अवसर पर कृषि विज्ञान केंद्र, आगर के अजय कुमार पानिका, हर्ष राठौर, उज्जैन डाॅ. डीएस तोमर, शाजापुर डाॅ. कायम सिंह आदि मौजूद थे।

बैठक में डाॅ. आरपीएस शक्तावत ने अधिकारियों को दी जानकारी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here