एक साल में डीएपी खाद के बैग पर 250 व पोटाश पर 370 रुपए बढ़े, किसान परेशान

0
109

श्योपुर| Nov 02, 2018

बाजार में हो रही खाद की काला बाजारी

बता दें कि कुछ सोसायटियां फॉल्ट होने के कारण मार्केटिंग द्वारा उन्हें खाद नहीं दिया जा रहा है। जिसकी वजह से किसानों को बाजार से नगदी में खाद खरीदना पड़ रहा है। लेकिन प्राइवेट दुकानों पर निर्धारित रेट से 50 से 80 रुपए अधिक लेकर किसानों को खाद दिया जा रहा है। जबकि किसान निर्धारित रेट पर खाद देने की दुकानदारों से बात करते हैं तो वह खाद देने से मना कर देते हैं। मजबूरन होकर अधिक पैसा देकर खाद खरीदना पड़ रहा है।

मजबूर होकर खाद बाजार से खरीदना पड़ रहा है


शासन ने तय किए हैं दाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here