शिवपुरी : अब सिरोंज नगर, बामौरी शाला उपमंडी में होगी चने की खरीदी, ग्रामीण क्षेत्र के किसानों को भी बुलाया

0
115

शिवपुरी May 04, 2019

जिले में चना और सरसों खरीदने के लिए 24 उपार्जन केंद्र बनाए गए हैं, जहां पिछले 10 से 12 दिनों से खरीदी चल रही है। 27 हजार 158 किसानों ने चने का पंजीयन कराया है, जिसमें से महज 1782 यानी 6.50% किसानों ने चना तुलवाया है। उपार्जन केंद्रों पर रखे चने का परिवहन नहीं हो पाने से सोसायटियों ने दूसरे किसानों से उपज खरीदने का काम बंद कर दिया है। अधिकारियों की लापरवाही की वजह से किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मामला जब तूल पकड़ा तो कलेक्टर ने आनन फानन में नागरिक आपूर्ति निगम (नान) डीएमओ राजेंद्र तिवारी को हटा दिया है। चार्ज पीयूष माली को सौंपा है, ताकि परिवहन में तेजी आए और किसानों की उपज खरीदी का काम न रुके।

जिला मुख्यालय पर कृषि विज्ञान केंद्र के पास नई कृषि उपज मंडी में खरीदी केंद्र स्थापित किया गया है। जहां 22 अप्रैल से चना व सरसों की खरीद शुरू हुई थी, लेकिन चना-सरसों का परिवहन नहीं हाे पाने की वजह से सोसायटी ने दूसरे किसानों से उपज खरीदना बंद कर दिया है। अभी तक खरीदा गया चना दो टीनशेड के अंदर रखा जा चुका है। जब तक उक्त चने का परिवहन नहीं हो जाता, तब तक दूसरे किसानों से खरीदी शुरू नहीं की जा सकती। खरीदी बंद रहने से तहसीलदार और एसडीएम भी नई अनाज मंडी पहुंचे। यहां भंडारण की प्रक्रिया शुरू कराई जा रही है, लेकिन शुक्रवार को किसानों से खरीदी का क्रम शुरू नहीं हो पाया था। जिले में ऐसे ही अन्य उपार्जन केंद्रों हैं जहां उपज का परिवहन नहीं होने से खरीदी में परेशानी आ रही है।

चने के अलावा, सरसों का मात्र 110 क्विंटल परिवहन, मसूर का बिल्कुल नहीं

खरीदी बंद होने से ट्रॉलीयों के नीचे धूप से बचने का प्रयास करते किसान।

परिवार में शादियां, इसलिए ज्यादा परेशानी

अधिकतर किसानों के परिवारों में शादियां हैं। उपज की तौल नहीं होने से किसान रात-दिन उपार्जन केंद्रों पर ही इंतजार कर रहे हैं। कई किसान बिना उपज तुलवाए घर लौट गए हैं। किसान मौकम सिंह ने बताया कि भतीजे की 6 अप्रैल को शादी है। उपज नहीं तुलने से यहीं रखवाली करना पड़ रही है। सरदार सिंह रावत निवासी पहाड़ी बसई के भतीजे की 3 मई को शादी थी, इसलिए घर लौट गए।

रन्नौद में दोनों सोसायटियों ने खरीदी बंद की

रन्नौद कस्बे में उपार्जन केंद्र क्रमांक 2 पर चना 1266 व मसूर 158 क्विंटल खरीद हुई है। दोनों ही उपज का परिवहन नहीं हुआ है। वहीं गेहूं 88872 क्विंटल में से महज 3418 क्विंटल ही परिवहन हुआ है। इसी तरह उपार्जन केंद्र क्रमांक 1 पर गेहूं 19173 खरीदा गया है। परिवहन 1322 क्विंटल हुआ है। दोनों ही केंद्रों पर गुरुवार से खरीदी बंद कर दी है। सोसायटी प्रबंधक का कहना है कि नाडेफ प्रबंधक हरज्ञान सिंह आएंगे, तभी खरीदी प्रारंभ होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here