खाद के बढ़े दाम, सब्सिडी भी नहीं मिल रही, क्षेत्र के किसान हो रहे परेशान

0
155

टिमरनी Oct 24, 2018

गेहूं और चने की बोवनी के लिए जरूरी खाद महंगा होने से किसान परेशान हैं। खाद के दाम से भुआणा क्षेत्र के किसान चिंता में हैं। आगामी समय में किसानों को खाद की बढ़ी हुई कीमतों से दो-चार होना पड़ेगा। खाद की कीमत अब प्रति बोरी 10 से 15 प्रतिशत बढ़ गई है। जिस कारण छोटे किसान सोचने पर मजबूर हो गए हैं। गेहूं की बुआई के लिए आवश्यक खाद 12:32:16 किसान नहीं खरीद पा रहे हैं। किसान रामदास, लखनसिंह, गणेश प्रसाद, अनिल सिंह ने बताया खाद महंगी होने से खेती की लागत बढ़ गई है। खाद पर उचित मात्रा में सब्सिडी नहीं मिलने से किसान घाटे में जा रहे हैं। इसको देखते हुए विभिन्न प्रकार के खादों के दामों में कमी की जाना चाहिए। ताकि छोटे किसानों की खेती को बचाया जा सके। इधर खाद कंपनी के अधिकारियों ने बताया खाद की कोई कमी नहीं है। 12:32:16 खाद की बोरी का मूल्य करीब 1090 रुपए है। प्रति बोरी किसान को 25 रुपए की सब्सिडी दी जा रही है। भाकिसं के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य नरेंद्र दोगने ने कहा पिछले कुछ वर्षों में खाद के दाम में चार गुना तक बढ़ गए हैं। 12:32:16 खाद किसानों की मुख्य जरूरत है। ब्लाॅक में 9 हजार मीट्रिक टन खाद की मांग है। यूरिया का पुराना भाव 295 था जो अब बढ़कर 366.50 रुपए प्रति बोरी हो गया है। इसी तरह एडीएपी का पुराना भाव 1076 से बढ़कर 1400 रुपए, पोटाश 578 से बढ़कर 945 रुपए, एनपीके 1061 से बढ़कर अब 1290 रुपए प्रति बोरी हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here