टेल क्षेत्र में सिंचाई के लिए पानी पहुंचाने 15-15 दिन हंडिया व बांई केनाल चलेंगी

0
99

टिमरनी Oct 29, 2018

जिले में नहर से 1 लाख 2121 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होगी। इसमें एलबीसी से हरदा क्षेत्र में 49458 हेक्टेयर व एचबीसी से टिमरनी संभाग में 52663 हेक्टेयर में सिंचाई हाेगी। किसानों को रबी सीजन में एक पलेवा व तीन सिंचाई के लिए पानी मिलेगा। पलेवा शुरू हो गया है। जिले में 30 से 40 दिन में किसानों का पलेवा हो जाता है। कलेक्टर विश्वनाथन ने किसानों व जिल उपभोक्ता संस्थाओं के अध्यक्षों से पानी की बर्बादी रोकने को लेकर चर्चा की। इस दौरान जल संसाधन विभाग के ईई आरपी त्रिपाठी मौजूद थे।

हरदा। निरीक्षण करते हुए कलेक्टर।

व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए हैं

रविवार को माेरंड एक्वाडक्ट का निरीक्षण किया। एलबीसी, एचबीसी से जिले को मिल रहे पानी की जानकारी ली। किसानों से चर्चा की। 15-15 दिन के अंतराल से दोनों नहरों से पानी वितरण होगा। जनवरी में पानी की समस्या नहीं आएगी। जिले में एक पलेवा तीन पानी मिलेगा। दोनों एसडीएम को किसानों से चर्चा कर व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए हैं। एस. विश्वनाथन, कलेक्टर, हरदा

घटिया निर्माण की शिकायत की

टिमरनी| मुख्य केनाल 3008 उंद्राकच्छ पर पहुंचे कलेक्टर एस. विश्वनाथन से जल उपभोक्ता संस्था अध्यक्षों व किसानों ने मुलाकात की। नहर से पान की बर्बादी रोकने को लेकर चर्चा की। किसानों ने कलेक्टर से घटिया लाइनिंग की शिकायत की। जल उपभोक्ता संस्था बाजनिया अध्यक्ष दीपचंद नवाद ने कहा कि लाइनिंग में क्रेक्स आ गए हैं। पानी के प्रेशर के साथ नहरें जगह-जगह से उखड़ जाएंगी। नहर के सीआर गेट व फाल के डाउनस्ट्रीम में सीसी लाइनिंग की जगह 30-30 मीटर आरसीसी लाइनिंग की मांग भी की। उन्होंने बताया कि एचबीसी में पिछले वर्ष सीआर गेट व फाल के डाउन स्ट्रीम में लोहे के सरिए डालकर लगभग लाइनिंग की थी। लेकिन 21 अक्टूबर 2018 को रात में अजनई में बगैर सरिए के काम कर दिया। इससे गुणवत्ता प्रभावित हुई है। इसी तरह हरदा व टिमरनी संभाग में घटिया निर्माण को छिपाने के लिए दर्जनों स्थानों पर लाइनिंग में पेंच वर्क किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here