अमूल प्लांट ने दूध लेना बंद किया, किसानों ने दिया धरना

0
101

उज्जैन Nov 21, 2018

अमूल पंचामृत डेयरी (प्लांट) का मंगलवार को जिले के किसानों ने घेराव कर दिया। डेयरी प्रबंधन द्वारा दूध लेना बंद किए जाने से किसान नाराज थे। उन्होंने एक घंटे तक प्लांट के गेट पर धरना दिया। नागझिरी थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उन्हें समझाया लेकिन वे नहीं माने। उनका आंदोलन जारी रहा।

अमूल पंचामृत डेयरी का संचालन देवास रोड पर किया जाता है। जहां पर जिले के डेढ़ लाख किसान 60 हजार लीटर दूध रोज सप्लाई करते हैं। उन्हें अमूल प्रबंधन की ओर से मंगलवार को पत्र मिला, जिसमें लिखा था कि बुधवार से दूध नहीं लेंगे। इसको लेकर किसानों ने नाराजगी जताई। वे प्लांट पर पहुंचे और घेराव कर दिया। पदमसिंह पटेल, राहुल आंजना, सोहन सांखला, श्रवणसिंह, कपिल पटेल, महेश जाट ने कहा,अचानक दूध बंद कर रहे हैं। अब बीच में हमसे कौन दूध खरीदेगा। किसानों ने बताया घर से बुलाकर हमसे दूध का अनुबंध किया था। हर साल दूध का अनुबंध होता है और कीमत तय होती है। किसानों ने कहा कर्ज लेकर हमने गाय, भैंस व लोडिंग वाहन खरीदे। दूध नहीं बिकेगा तो कर्ज कैसे चुकाएंगे। हम पांच साल से दूध सप्लाई कर रहे हैं। किसानों के प्रदर्शन की सूचना मिलने पर नागझिरी थाना पुलिस प्लांट पर पहुंची। उन्होंने किसानों और अमूल के स्थानीय प्रबंधन से बात की। उसके बाद भी किसान नहीं माने। उनका प्रदर्शन जारी रहा। किसानों ने 2016-17 को बोनस नहीं दिए जाने का भी आरोप लगाया है। उन्होंने चेताया बुधवार को जिले के सभी दूध विक्रेता प्लांट के बाहर इकट्ठा होंगे। यहां देवास रोड पर चक्काजाम करेंगे। देवास, सांवेर व इंदौर के किसान भी इसमें शामिल होंगे।

अनुबंध पत्र में स्पष्ट उल्लेख

अमूल प्लांट इंचार्ज जामी फिरदौस ने बताया किसानों से दूध का अनुबंध किया था। अनुबंध में यह स्पष्ट उल्लेख था कि अमूल को दूध की आवश्यकता नहीं होगी तो बंद कर देंगे। गुजरात से आदेश मिले कि किसानों से दूध लेना बंद कर दो तो हमने किसानों को पत्र के माध्यम से अवगत करा दिया। जिन किसानों का दूध का हिसाब बाकी है, उन्हें 10 दिन में भुगतान हो जाएगा।

देवास रोड पर अमूल प्लांट के आगे नारेबाजी कर धरना देते किसान।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here