चार घंटे कतार में लगे, तब मिली 5-5 बोरी यूरिया

0
158

उज्जैन Nov 13, 2018

छह दिन में दूसरी बार कृषि उपज मंडी में किसानों काे यूरिया के लिए कतार में लगना पड़ा। वह भी कम से चार घंटे। सुबह 8 बजे से कतार में लगे किसानों का कहना है कि उन्हें दोपहर 12 बजे 5-5 बोरी यूरिया ही मिली। इसके पहले छह नवंबर को मंडी परिसर स्थित एक निजी खाद विक्रय केंद्र के बाहर किसानों को साढे आठ घंटे इंतजार के बाद यूरिया की 5-5 बोरियां मिली थी। आठ दिन मंडी में अवकाश था। सोमवार को जैसे मंडी खुली। किसान उपज लेकर आए और यूरिया लेने के लिए खाद विक्रय केंद्रों पर पहुंचे। निजी दुकानों पर पूछताछ की लेकिन खाली हाथ लौटना पड़ा। इसके बाद वे मंडी परिसर स्थित एमपी एग्री के खाद विक्रय केंद्र पर पहुंचे। यहां पर सुबह 10 बजे तक केंद्र के दरवाजे ही नहीं खोले गए थे। किसानों के साथ बड़ी संख्या में महिलाएं भी कतार में लगी थी। दोपहर में कृषि विभाग के अधिकारियों ने माैके पर जाकर खाद वितरण शुरू कराया। कृषि विभाग और डीएमओ जिले के लिए खाद का लक्ष्य तय कर मांग भेजता है। डीडीए सीएल केवड़ा ने बताया जिले के लिए कृषि विभाग ने इस साल 28 हजार टन यूरिया का लक्ष्य रखा है। डीडीए के अनुसार इसमें से 15 हजार टन यूरिया अब तक मिल चुका है। दो दिन पहले ही तीन हजार टन का रैक आया था। यह सेवा सहकारी संस्था की मदद से किसानों को दिया है। किसानों की मांग होने से इंदौर, रतलाम, शाजापुर से यूूरिया मंगवाया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here